नम आँखों से युवराज सिंह ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को कहा अलविदा

सिक्सर किंग के नाम से मशहूर युवराज ने सोमवार को इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया। टीम इंडिया को 2007 वर्ल्ड टी-20 और 2011 विश्व कप जिताने में अहम भूमिका निभाने वाले युवी ने मुंबई में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की। मीडियाकर्मियों को एक शॉर्ट मूवी दिखाई। फिर नम आंखों से युवराज सिंह ने क्रिकेट को अलविदा कह दिया।

युवराज सिंह भारत के ऐसे खिलाड़ी हैं जिनपर अगर आप लिखना चाहें तो कई किताब लिख सकते हैं। अपने क्रिकेट करियर में उन्होंने भारतीय खेल प्रेमियों को इतने ख़ुशी के पल दिए हैं जितना शायद ही कोई दूसरा खिलाड़ी दे पाया हो। भारत के बेहतरीन ऑलराउंडर और 2007, 2011 विश्व कप में हीरो रहे युवराज सिंह ने सोमवार को अंतराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का एलान कर दिया। मुंबई के एक होटल में प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन करते हुए युवी ने इसकी घोषणा की। आगे वह आईसीसी से मान्यता प्राप्त विदेशी टी-20 लीग में फ्रीलांस कैरियर बनाना चाहते हैं।

साल 2000 में भारत के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू करने वाले युवराज सिंह 2019 क्रिकेट वर्ल्ड कप में खेलना चाहते थे, लेकिन वर्तमान में वो उस लय में नहीं थे जिसकी भारतीय टीम को जरुरत थी जिसके कारण उनका चयन वर्ल्डकप के लिए नहीं हो पाया था। युवराज सिंह भारत के स्टार बल्लेबाजों में शुमार रहे हैं। उन्होंने 2007 टी-20 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के गेंदबाज स्टुअर्ड ब्रॉड के ओवर की 6 गेंदों पर 6 छक्के जड़ दिए। युवराज इस साल आईपीएल में मुंबई इंडियंस की ओर से खेले, लेकिन उन्हें अधिक मौके नहीं मिले। युवी ने इस साल आईपीएल में मुंबई इंडियंस की तरफ से 4 मैचों में कुल 98 रन बनाए। इस दौरान उनका बेस्ट स्कोर 53 रन रहा।

युवराज सिंह टीम इंडिया के लिए ऑलराउंडर की भूमिका निभाते थे। युवी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के साथ-साथ लेफ्ट आर्म स्पिन गेंदबाजी भी करते थे। जिससे टीम इंडिया को 2007 टी-20 वर्ल्ड कप और 2011 वर्ल्ड कप में बहुत फायदा मिला। युवराज वनडे क्रिकेट में दुनियां के सबसे बेहतरीन फिनिशर माने जाते थे| युवराज सिंह ने भारत के लिए 304 वनडे मैचों में 36.55 की औसत से 8701 रन बनाए हैं, जिसमें 14 शतक और 52 अर्धशतक शामिल हैं। 2011 वर्ल्डकप के बाद उनका कैंसर खुलकर सामने आया था, जिसके बाद उन्होंने करीब दो साल कैंसर से लड़ाई लड़ी लेकिन बाद में उन्होंने टीम में वापसी की। कैंसर से उबरने के बाद युवराज सिंह ने अपनी एक फाउंडेशन शुरू की थी You We Can जिसके तहत वह कैंसर पीड़ितों की मदद करते हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *