क्या होगा आपके बच्चे का भविष्य, अब ये सब बतायेगी बच्चे की DNA रिपोर्ट

कपिल कप्रवान |

अपने बच्चों के भविष्य के लिए हर माँ बाप पहले से नही उत्सुक रहते हैं कि, आखिर उनके बच्चे का भविष्य क्या होगा। ये उत्सुकता होती तो सबको है लेकिन किसी को इसका पता नहीं लग पाता। विज्ञान की दुनिया में भी इसके लिए काफी कोशिशें की गयी लेकिन कुछ नहीं हो पाया। काफी लम्बे समय की मशक्कत के बाद अब इसकी संभावनाएं दिखने लगी हैं। इस डिजाइनर बेबी के काल में दुनियाभर से कई सारी कंपनियों ने कदम आगे बढाया है। ये कम्पनियाँ बच्चों की DNA जांच कर भविष्य में बच्चा क्या बनने वाला है, इसकी संभावनाएं बता देती हैं। इस तकनीक का नाम जेनेटिक तकनीक रखा गया है, इसे चीन में विकसित किया गया है। देखते ही देखते ये तकनीक कारोबार में बदल गयी है। इस कारोबार की शुरुआत 4.1 करोड़ डॉलर के निवेश से शुरू की गयी थी। अनुमान लगाया जा रहा है की 2025 ये निवेश 13.5 करोड़ डॉलर तक पहुँच सकता है।

baby के लिए इमेज परिणाम

Loading...
  • आलोचकों की भरमार भी कम नहीं –

चीन की जनसंख्या सबसे ज्यादा है, यहाँ हर साल के औसत का हिसाब लगायें तो 1.5 करोड़ बच्चों का जन्म होता है। इसके अनुसार देखा जाए तो माँ-बाप की जिज्ञासा का प्रतिशत भी उतना ही है। कम्पनियां डीएनए की रिपोर्ट जांच कर बच्चे का भविष्य बता देते हैं। लेकिन कुछ लोग इसे विज्ञान के अविष्कार की जगह अंधविश्वास मान रहे हैं। अब जाहिर सी बात है कि बात कुछ भी हो आलोचक हर जगह मिल जाते हैं। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के आनुवंशिक विद और बिग डाटा इंस्टीट्यूट के निदेशक गिल मैक्वेन का मानना है कि बच्चों के डीएनए के आधार पर इन चीजों का आकलन इतनी निश्चितता के आधार पर नहीं किया जा सकता है।

baby के लिए इमेज परिणाम

  • आधुनिक काल में भविष्य बताने वाली है ये तकनीक –

वैज्ञानिक इस तकनीक को आधुनिक युग के भविष्य बताने वाले की संज्ञा देते हैं। उन पंडितों की पोथी के रूप में डीएनए को देखते हैं। व्यक्ति का डीएनए उसके आनुवंशिक गुणों का वाहक होता है। जीन डिस्कवरी इस तकनीक की अग्रणी कंपनी है। दुनिया में इस कारोबार में कंपनियों की एक पूरी पौध शुमार हो चुकी है। ये कंपनियां अभिभावकों से उनके बच्चों के तार्किकता, गणित और खेल जैसे विषयों से लेकर उसकी जज्बाती क्षमताओं के सटीक आकलन का दावा कर रही हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *