Tuesday, July 27, 2021
Home ओपिनियन क्या खोखले हैं आधार की जानकारियां सुरक्षित होने के दावे?

क्या खोखले हैं आधार की जानकारियां सुरक्षित होने के दावे?

निजी डाटा सुरक्षा के साथ इन दिनों आधार कार्ड से जुड़े डाटा की सुरक्षा का मुद्दा एक बार फिर बहस का विषय बन गया है। आधार के डाटा की सुरक्षा को लेकर नवीनतम विवाद उठ खड़ा हुआ है, टेलीकाम रेग्यूलेटरी अथारिटी आफ इंडिया (ट्राई) के प्रमुख आर एस शर्मा के आधार कार्ड से जुड़ी महत्त्वपूर्ण जानकारियां हैकर्स द्वारा सार्वजनिक कर देने के बाद। दरअसल इंटरनेट पर आधार की जानकारियां लीक होने की खबरें लंबे समय से चलती रही हैं और कुछ हैकर्स निरंतर यह दावा करते रहे हैं कि वे बड़ी आसानी से आधार की सुरक्षा में सेंध लगा सकते हैं किन्तु आधार अथारिटी ‘यूआईडीएआई’ सदैव इसका खंडन करते हुए आधार को पूर्णतया सुरक्षित बताते हुए दावा करती रही कि आधार की जानकारियों को लीक करना संभव ही नहीं है लेकिन समय-समय पर ऐसे मामले सामने आते रहे हैं, जब आधार से जुड़ी महत्त्वपूर्ण जानकारियों के बड़े पैमाने पर लीक होने का खुलासा होता रहा है और सरकार के आधार के सुरक्षित होने के दावे खोखले साबित होते रहे हैं।
संभवतः आधार के सुरक्षित होने की सरकार की दलीलों को पुख्ता साबित करने की नीयत से ही ट्राई चीफ शर्मा ने गत दिनों ट्विटर पर अपना 12 अंकों का आधार नंबर ट्वीट कर चुनौती दी कि अगर इससे सुरक्षा से जुड़ा कोई खतरा है तो कोई मेरे आंकड़े लीक करके दिखाए और नतीजा देखिये कि चंद घंटों के भीतर फ्रांस के सिक्योरिटी एक्सपर्ट हैकर इलियट एल्डर्सन ने ट्राई चीफ की कई जानकारियां ट्विटर पर सार्वजनिक कर आधार की सुरक्षा से जुड़ी खामियों को बड़ी सहजता से उजागर कर दिया। इतना कुछ होने के बाद भी हालांकि ‘यूआईडीएआई’ यह मानने को तैयार नहीं था कि ट्राई चीफ की ये व्यक्तिगत जानकारियां आधार के डाटा बेस या यूआईडीएआई के सर्वर से ली गई हैं बल्कि उसका कहना था कि ये तमाम जानकारियां हैकर्स ने गूगल तथा अन्य वेबसाइट्स से हासिल की।
यूआईडीएआई के इस खंडन को ज्यादा पल नहीं बीते थे कि ‘एथिकल हैकर्स’ नामक दूसरे ग्रुप ने आधार नंबर से महत्त्वपूर्ण जानकारियां जुटाकर शर्मा के बैंक अकाउंट में आधार से जुड़े पेमेेंट सर्वर के ही माध्यम से एक रुपया भेजने का दावा किया जिसका उन्होंने स्क्रीन शाट भी शेयर किया। इसके बाद इसका खंडन करने के बजाय 31 जुलाई को यूआईडीएआई को आखिरकार लोगों को यह चेतावनी देने पर विवश होना पड़ा कि वे अपना आधार नंबर इंटरनेट व सोशल मीडिया पर शेयर न करें।
सवाल यह है कि यदि आधार वाकई इतना ही सुरक्षित है तो फिर यूआईडीएआई की इस चेतावनी का क्या औचित्य है? फ्रैंच सिक्योरिटी एक्सपर्ट एल्डर्सन तो पहले भी कई बार आधार की सुरक्षा से जुड़ी जानकारियों का खुलासा करने का दावा करते रहे हैं। अगर हमारे देश के अलावा फ्रांस तक के हैकर्स आधार की जानकारियां लीक करके दिखा रहे हैं और यूआईडीएआई अब आधार नंबर को सोशल मीडिया पर शेयर न करने की चेतावनी दे रहा है तो आसानी से समझा जा सकता है कि आधार की जानकारियां सुरक्षित होने के दावे कितने खोखले हैं। अब यह तो सरकार की ही जिम्मेदारी बनती है कि वो हैकर्स की तमाम चुनौतियों को ध्वस्त करते हुए जनता को आधार के सुरक्षित होने का विश्वास दिलाए।
करीब चार माह पहले आधार कानून की वैधता पर सुनवाई कर रही सर्वोच्च अदालत की पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने तो केन्द्र सरकार से यह सवाल भी किया था कि वह हर चीज को आधार से क्यों जोड़ना चाहती है? क्या वह हर व्यक्ति को आतंकवादी समझती है? आधार के जरिये हजारों करोड़ रुपये की धोखाधड़ी, बेनामी लेनदेन और तमाम फर्जी कम्पनियों का खुलासा होने संबंधी सरकार के तर्कों को खारिज करते हुए सर्वोच्च अदालत कह चुकी है कि आधार में ऐसा कुछ नहीं है, जिससे व्यक्ति को वाणिज्यिक गतिविधियों की श्रृंखला में लेन-देन से रोका जा सके और अदालत नहीं समझती कि आधार ऐसे बैंक धोखाधड़ी को रोक सकता है। सुप्रीम कोर्ट केन्द्र के तमाम तर्कों को खारिज करते हुए पहले ही कह चुका
है कि आधार हर धोखाधड़ी का इलाज नहीं है और न ही इससे आतंकवादियों को पकड़ने में मदद मिल सकती है।
आधार से निजता का गंभीर प्रश्न जुड़ा है और इसके दुरूपयोग के मामले भी अक्सर सामने आते रहे हैं। बड़ी तादाद में आधार तथा बैंक खातों से जुड़ी जानकारियां लीक होने की बातें भी सामने आती रही हैं और ऐसी खबरें भी आती रही हैं कि इंटरनेट पर लाखों लोगों के आधार कार्ड और उससे जुड़ी समस्त जानकारियां आसानी से उपलब्ध हैं जिन्हें कोई भी हासिल कर सकता है। सरकार या यूआईडीएआई भले ही आधार के सुरक्षित होने को लेकर कितने भी दावे करें किन्तु हकीकत यही है कि सवा सौ करोड़ की विशाल आबादी के व्यक्तिगत आंकड़ों को सुरक्षित रखने का हमारे पास अभी तक कोई भरोसेमंद नेटवर्क है ही नहीं। हैकर्स द्वारा 2015 में अमेरिकी सरकार के नेटवर्क से करीब पचास लाख लोगों के फिंगर प्रिंट हैक कर लिए गए थे। ऐसे में आधार के बायोमैट्रिक डाटाबेस की सुरक्षा पर अगर सवाल उठ रहे हैं तो इन्हें इतनी सहजता से खारिज नहीं किया जा सकता। कुछ समय पहले महाराष्ट्र के यवतमाल जिले में एक कुएं की सफाई के दौरान उसमें से प्लास्टिक बैग में हजारों आधार कार्ड मिलना आधार कार्ड को लेकर संबंधित प्राधिकरण के संवेदनशीलता के दावों की पोल खोलता है।
आधार को लेकर समय-समय सुप्रीम कोर्ट की तल्ख टिप्पणियों के बाद ही मोबाइल सिम लेने के लिए आधार की अनिवार्यता को खत्म किया गया और अब कुछ जरूरी योजनाओं के लिए भी आधार की अनिवार्यता को खत्म किया गया है। दरअसल आधार को लेकर हालत यह हो गई थी कि बैंक खाता खुलवाना हो या पेंशन लेनी हो, बच्चों का स्कूल में दाखिला कराना हो अथवा राशन लेना हो, बगैर आधार के छोटे से छोटा कार्य भी अटक जाता था। माना कि आधार की शुरूआत इसी उद्देश्य के साथ की गई थी कि कल्याणकारी योजनाएं सहजता से लक्षित समूहों तक पहुंचाई जा सकें किन्तु कुछ समय से जिस प्रकार इसे तमाम सेवाओं के साथ-साथ नागरिकता की पहचान से जोड़ने की भी बाध्यता देखी गई, उससे आधार को लेकर व्यावहारिक मुश्किलें पैदा होती रही हैं। बुजुर्गं व्यक्ति अक्सर बैंक संबंधी कामकाज या पेंशन इत्यादि के लिए उम्र के इस नाजुक पड़ाव में भी आधार कार्ड की बदौलत यहां-वहां धक्के खाने को विवश रहे हैं।
सरकारी योजनाओं का लाभ उठाते वक्त किसी के फिंगर प्रिंट मैच नहीं होते तो किसी के समक्ष कोई अन्य तकनीकी समस्या आ जाती है। ऐसे में आधार की बदौलत आम जनता को हो रही व्यावहारिक परेशानियों की अनदेखी भी उचित नहीं। आवश्यकता इस बात है कि सरकार को सभी जनोपयोगी सेवाओं के लिए आधार अनिवार्य करने से पहले इस प्रकार की अव्यवस्थाओं को दूर करने की ठोस पहल की जाए।
लाखों लोग ऐसे हैं जिन्हें उनके आधार कार्ड की मूल प्रति कभी प्राप्त ही नहीं होती और ऐसे आधार कार्डों के गलत तत्वों के हाथ लगने के पश्चात् उनके दुरूपयोग की संभावना बरकरार रहती है। कुछ ऐसे मामले सामने भी आए हैं, जब दूसरों का आधार नंबर हासिल कर उनके बैंक खातों से रकम उड़ा दी गई। आधार की बायोमैट्रिक जांच प्रक्रिया होने के बावजूद जाली आधार कार्ड के रैकेट का पर्दाफाश होता रहा है। अतः जब तक आधार के डाटा की सुरक्षा सुनिश्चित नहीं हो जाती, आधार के प्रति संदेह तो बरकरार रहेगा ही।

-योगेश कुमार गोयल-

RELATED ARTICLES

उत्तराखंड के यमकेश्वर क्षेत्र में बहुउद्देश्यीय बेडू कंपनी द्वारा स्वरोजागर योजना का शुभारंभ

यमकेश्वर। यमकेश्वर में पहाड़ी क्षेत्र में लघु उद्योग स्थापित करने के मध्यनजर यमकेश्वर के वासियों और प्रवासियों के समूह से बना बेडू (Bright Era...

विश्व पर्यावरण दिवस- कहीं हम रक्षक से भक्षक तो नहीं बनते जा रहे हैं ?

हर वर्ष 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के रूप में मनाया जाता है। हर वर्ष लाखों लोग वृक्षा रोपण करते हैं। उसकी फोटो...

शादी के दिन दिव्यांग हुए राजेन्द्र प्रसाद कुकरेती की जीवटता ने बनाया लेखक, मौत को भी दी चुनौती

आसाढ़ माह के आठ गते यानि 22जून 1988 को शादी का शुभ मुहूर्त था, आँगन के एक कोने पर चूल्हे की भट्टी जल रही...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

उत्तराखंड में 4 अगस्त तक बढ़ा कोविड कर्फ्यू, स्पा और सैलून के साथ खुलेंगे ये संस्थान, नाइट कर्फ्यू अभी रहेगा बरकरार

देहरादून। उत्तराखंड सरकार ने कुछ और रियायतों के साथ प्रदेश में कोविड कर्फ्यू को मंगलवार सुबह छह बजे से चार अगस्त सुबह छह बजे...

उत्तराखंड में पुलिस ग्रेड पे पर बोले सीएम धामी, सरकार ने स्वयं की पहल, सीएम आवास के मिथक पर कही ये बड़ी बात

देहरादून। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पूजा-पाठ के बाद सरकारी आवास में शिफ्ट हो गए हैं। इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में...

सीएम के चेहरे पर बोले प्रीतम, क्या मेरा चेहरा बुरा है…? कांग्रेस आलाकमान ने चुनाव में कोई चेहरा घोषित नहीं किया, सत्ता में...

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा के नवनियुक्त नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह सोमवार को सुबह 11 बजे विधानसभा भवन में विधिवत रूप से पदभार ग्रहण कर लिया...

उद्योग मंत्री गणेश जोशी ने दिए नवनियुक्त उद्योग सचिव राधिका झा को औद्योगिक विकास में तेजी लाने के निर्देश

देहरादून। आज नवनियुक सचिव, उद्योगिक विकास, लघु, सूक्ष्म, एवं मध्यम उद्यम, खादी एवं ग्रामोद्योग विभाग राधिका झा ने कैंप कार्यालय में कैबिनेट मंत्री गणेश...

उत्तर प्रदेश:लखनऊ-योगी मुख्यमंत्री पद के लिए पहली पसंद

डी.एस.नेगी/इंडिया टाइम्स ग्रुप हिंदी न्यूज़,उत्तर प्रदेश:लखनऊ। स्वतंत्र एजेंसी मैटराइज न्यूज ने प्रदेश के 75 ज़िलों में करवाए गए सर्वे में दावा किया है कि...

नई दिल्ली:वैज्ञानिकों की गंभीर चेतावनी, महाविनाश रोकने के लिए लेना होगा एक्शन

डी.एस.नेगी/इंडिया टाइम्स ग्रुप हिंदी न्यूज़,नई दिल्ली: वैज्ञानिकों ने एक चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि विश्व में चार ऐसे देश हैं, जो दुनिया...

नई दिल्ली:एम्‍स ने दिया बड़ा बयान,जल्द शुरू होगा बच्चो का टिकाकरण,

डी.एस.नेगी/इंडिया टाइम्स ग्रुप हिंदी न्यूज़,नई दिल्ली: दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने राहतभरी खबर दी है। उन्होंने...

शिलान्यास सहित जो घोषणाएं की गई है उनको प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण किया जाएगा- सीएम पुष्कर सिंह धामी

मुख्यमंत्री ने सुनी आम जन सहित विभिन्न संगठनों की समस्यायें। शिलान्यास सहित जो घोषणाएं की गई है उनको प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण किया जाएगा-...

डीएम देहरादून ने किया स्मार्ट सिटी के कार्यों का निरीक्षण, सड़को पर गड्ढे मे जलभराव को लेकर जताई नाराजगी

देहरादून। जिलाधिकारी डाॅ आर राजेश कुमार ने देहरादून स्मार्ट सिटी में हो रहे कार्यों का अपने स्थलीय निरीक्षण के दौरान आज सर्वे चैक से...

मीराबाई चानू के सिल्वर मेडल जीतते ही खुशी से झूमा देश, “भारत के झंडे को आप पर गर्व है मीरा”, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम...

देहरादून। मीराबाई चानू ने ये कमाल 49 किलोग्राम भारवर्ग की महिला वेटलिफ्टिंग में किया है। स्नैच राउंड में मीराबाई चानू सभी महिला वेटलिफ्टर्स के...

उत्तराखंड में अपग्रेड होंगे 158 आयुर्वेदिक अस्पताल, तीसरी लहर से निपटने को मजबूत होंगी सुविधाएं

देहरादून। कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए इससे निबटने के लिए ग्रामीण और सुदूरवर्ती क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार को प्रभावी...

ट्रांसफर-पोस्टिंग को लेकर उत्तराखंड सरकार के शासनादेश से हुआ बड़ा खुलासा, राजनीतिक दबाव बनाते हैं अधिकारी…

देहरादून। उत्तराखंड में ट्रांसफर और पोस्टिंग के लिए भारतीय प्रशासनिक सेवा के कतिपय अधिकारी राजनीतिक दबाव बना रहे हैं। प्रदेश सरकार ने आईएएस अफसरों...

उत्तराखंड: रुद्रपुर में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का रोड शो, कार्यकर्ताओं में दिखा उत्साह, किसानों ने किया प्रदर्शन

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी शुक्रवार से ऊधमसिंह नगर जिले के दौरे पर हैं। शक्रवार को जब मुख्यमंत्री रुद्रपुर पहुंचे तो किसानों ने उनके दौरे...

आतंकी साजिश नाकाम: जम्मू-कश्मीर में पुलिस ने मार गिराया ड्रोन, पांच किलो आईईडी बरामद

जम्मू-कश्मीर के कनाचक इलाके में पुलिस ने एक पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराया है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक इस ड्रोन के गिरने पर...

“मिशन 2022” के लिए उत्तराखंड कांग्रेस की नई टीम फाइनल, पंजाब फार्मूला उत्तराखंड में भी हुआ लागू

देहरादून। खबर आ रही है कि उत्तराखंड कांग्रेस की नई टीम के के नामों का ऐलान कल होगा। इस टीम में जिन नामों और...