हर घर के पेयजल कनेक्शन पर मीटर लगाना जरूरी

देहरादून। जल संकट को ध्यान में रखते हुए सरकार अब प्रदेश में पेयजल कनेक्शन पर मीटर लगाना जरूरी करने जा रही है। इसके प्रथम चरण में सभी 92 शहरों में हर घर के पेयजल कनेक्शन पर मीटर लगाया जाएगा। 56 शहरों में शहरी विकास विभाग और 36 में बाह्य सहायतित योजना के तहत उत्तराखंड जल संस्थान द्वारा यह मीटर लगवाया जाएगा।

बता दें कि एक करोड़ से अधिक आबादी वाले उत्तराखंड में वर्तमान में 681298 पेयजल कनेक्शन हैं। इनमें से 345373 शहरी क्षेत्रों में और बाकी ग्रामीण क्षेत्रों में हैं। पेयजल की उपलब्धता देखेने पर शहरी क्षेत्र में 135 लीटर प्रतिदिन प्रति व्यक्ति का मानक निर्धारित है। इसके बावजूद 92 में से 71 नगरीय क्षेत्रों में 70 लीटर प्रतिदिन प्रति व्यक्ति पेयजल उपलब्ध हो पा रहा है।

Loading...

शहरी क्षेत्रों में उपलब्ध कराए जा रहे पानी का दुरुपयोग ज्यादा किया जाता है जल संकट को देखते हुए इसे सही नहीं कहा जा सकता। इसके लिए पानी बचाने का महत्व हर किसी को समझना होगा और इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार ने अब सभी पेयजल संयोजनों पर मीटर लगाना जरूरी करने का निश्चय किया है जिसकी शुरुआत शहरी क्षेत्रों से की जाएगी।

सचिव पेयजल अरविंद सिंह ह्यांकी ने बताया कि पेयजल कनेक्शन पर मीटर लगने से हर व्यक्ति पानी के महत्व को समझेगा और किफायत पर भी ध्यान देगा। उन्होंने बताया कि 56 शहरी क्षेत्रों में पूर्व में शहरी विकास विभाग के जरिये पेयजल योजनाओं के काम हुए हैं। वहां शहरी विकास विभाग के जरिये पेयजल संयोजन पर मीटर लगाए जाएंगे बाकी 36 शहरों में बाह्य सहायतित योजना के तहत जल संस्थान मीटर लगाएगा। इसका मसौदा तैयार कर लिया गया है। पानी के ये मीटर उच्च गुणवत्ता वाले होंगे और आगे की बिलिंग भी इसी रीडिंग के आधार पर की जाएगी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *