Tuesday, July 27, 2021
Home ओपिनियन चर्चित मुद्दा सुप्रीम कोर्ट : विधायिका कभी राजनीति से अपराधीकरण को मुक्त नहीं करेगी

सुप्रीम कोर्ट : विधायिका कभी राजनीति से अपराधीकरण को मुक्त नहीं करेगी

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को कहा कि हमें यकीन है कि विधायिका कभी राजनीति से अपराधीकरण को मुक्त नहीं करेगी। हम इस बात को लेकर आश्वस्त हैं कि निकट भविष्य में नहीं, बल्कि भविष्य में कभी वह ऐसा नहीं करेगी।

शीर्ष अदालत ने इस बात पर अफसोस जताया कि किसी भी पार्टी को न तो राजनीति को अपराध से मुक्त करने के लिए कानून बनाने में और न ही उन उम्मीदवारों को चुनाव लड़ने से रोकने में दिलचस्पी है, जिनके खिलाफ गंभीर अपराधों में अदालत ने आरोप तय किए हैं। शीर्ष अदालत ने कहा है कि इस मामले में सभी राजनीतिक दलों में विविधता में एकता है।

जस्टिस आरएफ नरीमन और जस्टिस बीआर गवई की पीठ ने कहा है कि सरकार की विधायी शाखा कानून लाने पर कोई कदम उठाने में दिलचस्पी नहीं ले रही है।

हालांकि, अब तक कुछ भी नहीं किया गया है और किसी भी पार्टी द्वारा कभी भी कुछ नहीं किया जाएगा। शीर्ष अदालत ने अवमानना के इस मामले में भाजपा, कांग्रेस, बसपा, लोजपा, माकपा और राकांपा सहित विभिन्न पक्षों के वकीलों को भी सुना।सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में आदेश देने के लिए अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है।

दरअसल, पीठ वकील ब्रजेश सिंह द्वारा दायर एक अवमानना याचिका पर सुनवाई कर रही थी, जिसमें 2020 में बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा फरवरी, 2020 में सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की जानबूझकर पालन नहीं करने का आरोप लगाया गया है।

फरवरी, 2020 में सुप्रीम कोर्ट ने उम्मीदवारों की आपराधिक पृष्ठभूमि की जानकारी का व्यापक प्रकाशन करने के आदेश दिया था। सिंह का कहना है कि कई पार्टियां अपने उम्मीदवारों के आपराधिक इतिहास के ब्योरे को सार्वजनिक करने में विफल रही हैं।

बिहार चुनाव में थे 427 दागी उम्मीदवार
चुनाव आयोग की ओर से पेश वरिष्ठ वकील विकास सिंह ने पीठ को बताया कि आपराधिक पृष्ठभूमि वाले 427 उम्मीदवार थे, जिन्होंने 2020 में बिहार में विधानसभा चुनाव लड़ा था। राजद 104 दागी उम्मीदवारों के साथ सूची में सबसे ऊपर है, उसके बाद भाजपा है जिसने ऐसे 77 उम्मीदवार खड़े किए थे।

सिंह ने बताया कि फरवरी में शीर्ष अदालत के फैसले के बाद, चुनाव आयोग ने छह मार्च को सभी मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों को पत्र लिखकर स्पष्ट किया था कि अदालत के आदेशों का पालन करने में विफलता को चुनाव चिह्न (आरक्षण व आवंटन) आदेश, 1968 के अनुच्छेद 16 ए का उल्लंघन माना जाएगा, जिसके तहत किसी पार्टी के चुनाव चिह्न को निलंबित या वापस लिया जा सकता है।

आयोग को मिले प्रत्याशी को प्रतिबंधित करने का हक: सिब्बल
एनसीपी की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि भारत जैसे देश में पंचायत चुनाव भी पार्टी के चुनाव चिह्न पर चलते हैं। उन्होंने सवाल किया कि क्या किसी राष्ट्रीय पार्टी का चुनाव चिह्न रद्द कर देना चाहिए ,क्योंकि राज्य या पंचायत स्तर पर निर्देशों का पालन नहीं किया गया है?

सिब्बल ने कहा, शीर्ष अदालत को अनुच्छेद- 324 के तहत चुनाव आयोग को किसी भी उम्मीदवार को प्रतिबंधित करने के लिए अधिकृत करना चाहिए, जिसके खिलाफ सात साल से अधिक की कैद वाले अपराधों के आरोप तय किए गए हों।

पीठ ने कहा, हम सुझावों पर करेंगे विचार
लेकिन पीठ ने कहा कि पांच जजों की पीठ ने 2019 में स्पष्ट किया था कि एक सांविधानिक अदालत इस तरह के निर्देश जारी नहीं कर सकती, क्योंकि संविधान या किसी क़ानून में इस तरह की मंजूरी का कोई प्रावधान नहीं है। हालांकि, पीठ ने सिब्बल से कहा कि हम निश्चित रूप से आपके सुझाव पर विचार करेंगे। हम देखेंगे कि हम 2019 के फैसले के मानदंडों के भीतर क्या किया जा सकता है।

चुनाव चिह्न का निलंबन अंतिम उपाय हो: साल्वे
वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे ने कहा कि चुनाव चिह्न का निलंबन अंतिम उपाय होना चाहिए। अगर चुनाव चिह्न को छीन लिया जाएगा तो राजनीति के अखाडे़ से कई राजनीतिक दल बाहर हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि उम्मीदवारों को चुनने में जीत हमेशा मुख्य मानदंड होती है और इसलिए मतदाताओं को इसे समझना होगा और उन्हे अस्वीकार करना होगा।

 

Source Link

RELATED ARTICLES

उत्तराखंड सियासी संकट : 114 दिन के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की विदाई के पीछे हैं ये कारण

सिर्फ 114 दिन में ही मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की कहानी खत्म हो गई। खुद तीरथ ने अपनी विदाई की के पीछे सांविधानिक संकट बताया...

बड़ी ख़बर : उत्तराखंड के सीएम तीरथ सिंह रावत ने दिया इस्तीफा, BJP की सियासत की भेंट चढ़ गया एक सीधा,सरल, ईमानदार राजनेता

देहरादून। उत्तराखंड में सियासी संकट के बीच सीएम तीरथ सिंह रावत ने प्रेसवार्ता कर सबको चौंका दिया। अटकलें थीं कि सीएम तीरथ आज(शुक्रवार) को...

मंत्रिमंडल विस्तार के लिए पीएम मोदी खुद कर रहे मंत्रियों के ‘रिपोर्ट कार्ड’ की समीक्षा

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में पहले मंत्रिमंडल विस्तार की तैयारी जोरशोर से चल रही है। प्रधानमंत्री बीते दो दिनों से अलग-अलग मंत्रियों को...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

उत्तराखंड में 4 अगस्त तक बढ़ा कोविड कर्फ्यू, स्पा और सैलून के साथ खुलेंगे ये संस्थान, नाइट कर्फ्यू अभी रहेगा बरकरार

देहरादून। उत्तराखंड सरकार ने कुछ और रियायतों के साथ प्रदेश में कोविड कर्फ्यू को मंगलवार सुबह छह बजे से चार अगस्त सुबह छह बजे...

उत्तराखंड में पुलिस ग्रेड पे पर बोले सीएम धामी, सरकार ने स्वयं की पहल, सीएम आवास के मिथक पर कही ये बड़ी बात

देहरादून। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पूजा-पाठ के बाद सरकारी आवास में शिफ्ट हो गए हैं। इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में...

सीएम के चेहरे पर बोले प्रीतम, क्या मेरा चेहरा बुरा है…? कांग्रेस आलाकमान ने चुनाव में कोई चेहरा घोषित नहीं किया, सत्ता में...

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा के नवनियुक्त नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह सोमवार को सुबह 11 बजे विधानसभा भवन में विधिवत रूप से पदभार ग्रहण कर लिया...

उद्योग मंत्री गणेश जोशी ने दिए नवनियुक्त उद्योग सचिव राधिका झा को औद्योगिक विकास में तेजी लाने के निर्देश

देहरादून। आज नवनियुक सचिव, उद्योगिक विकास, लघु, सूक्ष्म, एवं मध्यम उद्यम, खादी एवं ग्रामोद्योग विभाग राधिका झा ने कैंप कार्यालय में कैबिनेट मंत्री गणेश...

उत्तर प्रदेश:लखनऊ-योगी मुख्यमंत्री पद के लिए पहली पसंद

डी.एस.नेगी/इंडिया टाइम्स ग्रुप हिंदी न्यूज़,उत्तर प्रदेश:लखनऊ। स्वतंत्र एजेंसी मैटराइज न्यूज ने प्रदेश के 75 ज़िलों में करवाए गए सर्वे में दावा किया है कि...

नई दिल्ली:वैज्ञानिकों की गंभीर चेतावनी, महाविनाश रोकने के लिए लेना होगा एक्शन

डी.एस.नेगी/इंडिया टाइम्स ग्रुप हिंदी न्यूज़,नई दिल्ली: वैज्ञानिकों ने एक चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि विश्व में चार ऐसे देश हैं, जो दुनिया...

नई दिल्ली:एम्‍स ने दिया बड़ा बयान,जल्द शुरू होगा बच्चो का टिकाकरण,

डी.एस.नेगी/इंडिया टाइम्स ग्रुप हिंदी न्यूज़,नई दिल्ली: दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने राहतभरी खबर दी है। उन्होंने...

शिलान्यास सहित जो घोषणाएं की गई है उनको प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण किया जाएगा- सीएम पुष्कर सिंह धामी

मुख्यमंत्री ने सुनी आम जन सहित विभिन्न संगठनों की समस्यायें। शिलान्यास सहित जो घोषणाएं की गई है उनको प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण किया जाएगा-...

डीएम देहरादून ने किया स्मार्ट सिटी के कार्यों का निरीक्षण, सड़को पर गड्ढे मे जलभराव को लेकर जताई नाराजगी

देहरादून। जिलाधिकारी डाॅ आर राजेश कुमार ने देहरादून स्मार्ट सिटी में हो रहे कार्यों का अपने स्थलीय निरीक्षण के दौरान आज सर्वे चैक से...

मीराबाई चानू के सिल्वर मेडल जीतते ही खुशी से झूमा देश, “भारत के झंडे को आप पर गर्व है मीरा”, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम...

देहरादून। मीराबाई चानू ने ये कमाल 49 किलोग्राम भारवर्ग की महिला वेटलिफ्टिंग में किया है। स्नैच राउंड में मीराबाई चानू सभी महिला वेटलिफ्टर्स के...

उत्तराखंड में अपग्रेड होंगे 158 आयुर्वेदिक अस्पताल, तीसरी लहर से निपटने को मजबूत होंगी सुविधाएं

देहरादून। कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए इससे निबटने के लिए ग्रामीण और सुदूरवर्ती क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार को प्रभावी...

ट्रांसफर-पोस्टिंग को लेकर उत्तराखंड सरकार के शासनादेश से हुआ बड़ा खुलासा, राजनीतिक दबाव बनाते हैं अधिकारी…

देहरादून। उत्तराखंड में ट्रांसफर और पोस्टिंग के लिए भारतीय प्रशासनिक सेवा के कतिपय अधिकारी राजनीतिक दबाव बना रहे हैं। प्रदेश सरकार ने आईएएस अफसरों...

उत्तराखंड: रुद्रपुर में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का रोड शो, कार्यकर्ताओं में दिखा उत्साह, किसानों ने किया प्रदर्शन

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी शुक्रवार से ऊधमसिंह नगर जिले के दौरे पर हैं। शक्रवार को जब मुख्यमंत्री रुद्रपुर पहुंचे तो किसानों ने उनके दौरे...

आतंकी साजिश नाकाम: जम्मू-कश्मीर में पुलिस ने मार गिराया ड्रोन, पांच किलो आईईडी बरामद

जम्मू-कश्मीर के कनाचक इलाके में पुलिस ने एक पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराया है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक इस ड्रोन के गिरने पर...

“मिशन 2022” के लिए उत्तराखंड कांग्रेस की नई टीम फाइनल, पंजाब फार्मूला उत्तराखंड में भी हुआ लागू

देहरादून। खबर आ रही है कि उत्तराखंड कांग्रेस की नई टीम के के नामों का ऐलान कल होगा। इस टीम में जिन नामों और...