India Times Group

इंग्लैंड से मिली हार के बाद टीम इंडिया के कोच द्रविड़ ने कही ऐसी बड़ी बात

 

एडिलेड। भारत के कोच राहुल द्रविड़ ने टी20 विश्व कप 2022 के सेमीफाइनल में गुरुवार को इंग्लैंड के हाथों मिली हार को निराशाजनक बताया, लेकिन उसे ‘शर्मनाक हार’ कहने से परहेज़ किया। इंग्लैंड ने एडिलेड ओवल पर खेले गए सेमीफाइनल में भारत को 10 विकेट से रौंदा। भारत ने इंग्लैंड को 169 रन का लक्ष्य दिया था जिसे जॉस बटलर और एलेक्स हेल्स की सलामी जोड़ी ने 16 ओवर में ही हासिल कर लिया। मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में जब द्रविड़ से पूछा गया कि क्या यह एक ‘शर्मनाक हार’ है, तो उन्होंने कहा, शर्मनाक हार तो नहीं, लेकिन यह निराशाजनक है।

द्रविड़ ने कहा, इंग्लैंड आज बेहतर टीम थी और उन्होंने हमसे बेहतर खेला। हमने गेंद को आगे टप्पा देने का प्रयास किया। यह एक योजना थी, लेकिन वह इसके खिलाफ सफल रहे। यहां गेंद उतनी स्विंग नहीं हुई जितनी ऑस्ट्रेलिया के अन्य हिस्सों में होती है। परिस्थितियां उनके हित में रहीं, और बटलर-हेल्स की साझेदारी आज शानदार थी। बटलर-हेल्स की जोड़ी ने 169 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए पारी की विस्फोटक शुरुआत की और पावरप्ले में 63 रन जोड़ लिये। भारतीय टीम इस दौरान 38 रन ही बना सकी थी।

द्रविड़ ने कहा, मेरे अनुसार उन्होंने हम पर दबाव बनाया और मैच को कभी हाथ से निकलने नहीं दिया। जब हमारे गेंदबाज विकेट पर आए तब हमने सोचा कि हम मैच पर अपनी पकड़ बना सकते हैं। उन्होंने हमारे स्पिनरों पर काफी अच्छा प्रत्याक्रमण किया और उन पर दबाव बनाया।
उन्होंने कहा, हम उन टीमों में से एक थे जो इन परिस्थितियों में भी 180 या उससे अधिक स्कोर बना रहे थे। मुझे लगता है कि हमने इस टूर्नामेंट में दो या तीन बार ऐसा किया था। हम अच्छा खेल रहे थे। शायद जब मैच शुरू हुआ, तो खिलाड़ी कह रहे थे कि विकेट थोड़ा धीमा था। इंग्लैंड ने वास्तव में अच्छी गेंदबाजी की। मुझे लगा कि वे वास्तव में सामने अच्छे थे। बटलर और हेल्स की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी से पहले हार्दिक पांड्या के अलावा सभी भारतीय बल्लेबाज विकेट पर संघर्ष करते नजर आये। पांड्या ने 33 गेंदों पर चार चौकों और पांच छक्कों के साथ ताबड़तोड़ 63 रन बनाये, जबकि कोई अन्य बल्लेबाज 150 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से रन नहीं बना सका।

द्रविड़ ने कहा, उन्होंने (इंग्लैंड) वास्तव में अच्छी जगहों पर गेंदबाजी की और हमें मैच पर पकड़ नहीं बनाने दी। हमें लगा कि 15 ओवर के निशान तक हम 15-20 रन पीछे थे और आखिरी पांच ओवरों में ही हमने अच्छी बल्लेबाजी की। उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि हार्दिक बहुत अच्छा खेले, लेकिन अंत में ऐसा लग रहा था कि हम 15-20 रन से भी बहुत पीछे थे, लेकिन मुझे लगता है कि हमें उस विकेट पर 180 या 185 रन का स्कोर बनाना चाहिए था।