India Times Group
आईपीएल में खराब प्रदर्शन से आहत हुए रोहित शर्मा, ने कहा- अभी दुनिया खत्म नहीं हुई
 

मुंबई। लगातार हार के बावजूद मुंबई इंडियंस के ड्रेसिंग रूम में पैनिक बटन न दबाने की बात कही गई। मोटिवेशनल स्पीच देने के लिए टीम में सचिन तेंदुलकर शामिल हुए। बल्लेबाज़ी क्रम में फेरबदल किए गए। विभिन्न गेंदबाज़ी संयोजनों को आज़माया गया। पहली बार सिर्फ दो विदेशी खिलाड़ी अंतिम एकादश में खेले। मुंबई ने सब कुछ करने की कोशिश की, लेकिन इसके बावजूद वह इस आईपीएल में सबसे खऱाब प्रदर्शन करने वाली टीम रही है।

रविवार को लखनऊ सुपर जायंट्स के खिलाफ लगातार छठी हार ने पांच बार की चैंपियन को प्ले-ऑफ़ की दौड़ से लगभग बाहर कर दिया है। इसके बाद मुंबई इंडियंस को अब किसी गणीतिय चमत्कार पर निर्भऱ रहना पड़ेगा। लेकिन मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा का मानना है कि चीजें इतनी विकट नहीं हैं और उनकी टीम अभी भी वापसी कर सकती है। मैच के बाद रोहित ने स्टार स्पोर्ट्स से बात करते हुए कहा यह दुनिया का अंत नहीं है। हम पहले भी वापस आ चुके हैं। हम कोशिश करेंगे और फिर से वापस आएंगे। हालांकि इस सीजऩ का लगभग आधा चरण अब बीतने की कगार पर पहुंच चुका है और रोहित ख़ुद एक बल्लेबाज़ के तौर पर अब तक विफ़ल रहे हैं।
छह मैचों में रोहित ने 19 की औसत और 129 की स्ट्राइक रेट से 114 रन बनाए हैं। पावरप्ले में उनकी स्ट्राइक रेट 132.05 है। उन्होंने एक पारी में 40 और दो पारियों में 25 से अधिक का स्कोर बनाया है। कल भी वह जल्दी आउट हो गए।

यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें लगा कि उनकी असफलताएं बार-बार हो रही हैं? रोहित ने कहा, अगर मैं इसे जानता हूं, तो शायद मैं इसमें सुधार करूंगा। ईमानदारी से, मैं खुद को इस तरह से तैयार करने की कोशिश कर रहा हूं कि मैं हर खेल के लिए तैयार हो जाऊं। वहां कुछ भी अलग नहीं है। मैं पूरी जि़म्मेदारी अपने ऊपर लेता हूं। ईमानदारी से कहूं तो मैं एक व्यक्ति के रूप में और एक खिलाड़ी के रूप में भी जि़म्मेदारी को समझता हूं जो कि छह मैचों में करने में विफ़ल रहा है। लेकिन, फिर से, मैं वहां जाने और अपने खेल का आनंद लेने के लिए खुद का समर्थन करता हूं और वही कर रहा हूं जो मैं इतने सालों से करता आ रहा हूं। आगे देखते रहना महत्वपूर्ण है।