India Times Group
खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स से अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी तैयार करने में मदद मिलेगी : अनुराग ठाकुर
 

नयी दिल्ली। केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने कहा है कि खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स (केआईयूजी) से अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी तैयार करने में मदद मिलेगी। ठाकुर कर्नाटक में आयोजित होने वाले खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स के बारे में संवाददाताओं को जानकारी दे रहे थे।
बातचीत के दौरान खेल विभाग की सचिव सुजाता चतुर्वेदी, भारतीय खेल प्राधिकरण के महानिदेशक संदीप प्रधान और मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे। विश्वविद्यालय खेल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की दृष्टिकोण के अनुरुप हैं, जिन्होंने खेलों के पहले आयोजन में प्रतिभागियों को संबोधित किया था और ओलंपिक सहित प्रमुख अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले एथलीटों के एक ठोस आधार के रूप में विश्वविद्यालय खेलों के महत्व के बारे में बताया था।

ठाकुर ने कहा कि केआईयूजी 2021 खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स का दूसरा आयोजन है, जो बेंगलुरू में संपन्न होगा और जैन मान्य विश्वविद्यालय इन खेलों का मेजबान विश्वविद्यालय होगा। यह प्रतियोगिता कर्नाटक सरकार द्वारा भारत सरकार के युवा कार्य एवं खेल मंत्रालय के सहयोग से 24 अप्रैल से 3 मई, 2022 तक आयोजित की जाएगी। उन्होंने कहा, केआईयूजी 2021 में लगभग 190 विश्वविद्यालयों के 3879 से अधिक प्रतिभागी भाग लेंगे, जो 20 क्षेत्रों में और 257 स्वर्ण पदकों के लिए संघर्ष करेंगे, जिसमें मल्लखंब और योगासन जैसे स्वदेशी खेल शामिल हैं।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इन खेलों में कई चीजें पहली बार शामिल की जा रही हैं, जिनमें यह पहला खेलो इंडिया ग्रीन गेम्स भी एक है। खेलों में रिसाइकिल करने योग्य सामग्री होगी और यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि यह एक अपशिष्ट-मुक्त खेल होगा। इसके अलावा, खेलों के लिए अपनी तरह का पहला मोबाइल एप्लिकेशन भी विकसित किया गया है जिसमें खेलों के बारे में सभी आवश्यक जानकारी होगी, जिसका उपयोग एक एथलीट गेम्स से पहले और गेम्स के दौरान कर सकता है, इस प्रकार प्रतिभागियों को डिजिटल इंडिया के दृष्टिकोण से युक्त सुविधा प्रदान की जा रही है।
श्रीहरि नटराज और दुती चंद सहित कई ओलंपियन सहित प्रशिक्षण प्रदान करने वाले कई एथलीट भी इन खेलों में भाग लेंगे।

खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स विश्वविद्यालय स्तर के खिलाडिय़ों का सबसे बड़ा मंच है और इसका उद्देश्य विश्वविद्यालय के छात्रों को अपनी प्रतिभा दिखाने और विभिन्न खेलों के लिए राष्ट्रीय टीम चयनकर्ताओं का ध्यान आकर्षित करने के लिए एक राष्ट्रीय स्तर का लॉन्च पैड प्रदान करना है।
खेलों का सीधा प्रसारण डीडी और सोनी 6 पर सोनी ओटीटी प्लेटफॉर्म सोनी लिव के साथ-साथ आकाशवाणी, प्रसार भारती, खेलो इंडिया सहित अन्य कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर किया जाएगा।
यह भी पहली बार हो रहा है कि राष्ट्रीय एंटी डोपिंग एजेंसी (नाडा) इसमें भाग लेने वाले एथलीटों को सूचना, शिक्षा और संचार का प्रसार करने के लिए एक ऐप का उपयोग करेगा, ताकि उन्हें डोपिंग के जोखिम के बारे में पूरी तरह से शिक्षित किया जा सके।