India Times Group

दूसरा वनडे जीतकर सीरीज में अजेय बढ़त बनाने उतरेगा भारत

 

कोलकाता। पहले वनडे में मेहमान टीम को 67 रन से रौंदने के बाद भारत यहां ईडन गार्डन में श्रीलंका के खिलाफ दूसरा एकदिवसीय मुकाबला जीतकर तीन मैचों की सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त बनाने उतरेगा। गुवाहाटी में खेले गये पहले मुकाबले में जहां रोहित शर्मा और शुभमन गिल के बीच पहले विकेट के लिये हुई 143 रन की साझेदारी ने भारत को मजबूत स्थिति में पहुंचाया, वहीं विराट कोहली के 73वें अंतरराष्ट्रीय शतक की मदद से टीम 373 रन का विशाल स्कोर खड़ा कर सकी।

भारत के शीर्ष तीन बल्लेबाजों ने भले ही बड़े स्कोर बनाये, लेकिन निचला क्रम ज्यादा कुछ कमाल नहीं दिखा सका। इसका नतीजा यह हुआ कि भारत ने आखिरी नौ ओवरों में सिर्फ 70 रन जोड़े। यूं तो श्रेयस अय्यर (28) और केएल राहुल (39) दोनों ही अच्छी शुरुआत का फायदा नहीं उठा सके, लेकिन राहुल की खराब फॉर्म कुछ समय से भारत के लिये चिंता का विषय रही है। राहुल ने 2022 में भारत के लिये नौ वनडे मैच खेले, जिसमें उन्होंने 27.9 की औसत से सिर्फ 251 रन बनाये। साथ ही उनका स्ट्राइक रेट 80.2 का रहा जो एक फिनिशर की भूमिका निभाने वाले बल्लेबाज के लिहाज से कम है। ऋषभ पंत की गैरमौजूदगी में भारत के विकेटकीपर की भूमिका निभाने वाले राहुल को दूसरे वनडे में बड़ा स्कोर बनाने की जरूरत होगी।

दूसरी ओर, श्रीलंका को गुरुवार से पहले ऊपरी क्रम की लचर बल्लेबाजी का कुछ इलाज ढूंढना होगा। सलामी बल्लेबाज पथुम निसंका (72) की अर्द्धशतकीय पारी के अलावा किसी बल्लेबाज ने महत्वपूर्ण योगदान नहीं दिया। अंत में कप्तान दसुन शनाका ने आकर 88 गेंदों पर 108 रन की पारी खेली, लेकिन तब तक मैच उनकी टीम के हाथ से निकल चुका था।

श्रीलंका के पास गेंदबाजी और फील्डिंग से जुड़ी हुई कुछ चिंताएं भी हैं। गेंदबाजों ने जहां शुरुआती ओवरों में ढीली गेंदबाजी करके रोहित और गिल को हाथ खोलने का मौका दिया, वहीं खराब फील्डिंग के कारण भी श्रीलंका को कई रनों की क्षति हुई। कसुन रजिता की गेंदबाजी पर रन मशीन विराट कोहली का कैच क्रमश: 51 और 82 रन पर दो बार छूटा और उन्होंने इसका भरपूर फायदा उठाते हुए 113 रन जड़ डाले। शनाका की टीम अगर ईडन गार्डन में जीत दर्ज करके सीरीज 1-1 से बराबर करना चाहती है तो उसे इन गलतियों को दोहराने से बचना होगा।

ईडन गार्डन अब तक 30 एकदिवसीय मैचों की मेजबानी कर चुका है, हालांकि इस मैदान पर पिछला एकदिवसीय मैच 2017 में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया था। दक्षिण अफ्रीका को 2020 में यहां वनडे खेलना था लेकिन उस मुकाबले को कोविड महामारी के कारण रद्द करना पड़ा। अब जब छह साल बाद क्रिकेट कोलकाता लौट रहा है तो टॉस जीतने वाली टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए बड़ा स्कोर खड़ा करना चाहेगी। ईडन गार्डन में पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम ने 18 मुकाबले जीते हैं, जबकि लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम को सिर्फ 11 बार विजय मिली है।

इस मैदान से रोहित शर्मा की खास यादें भी जुड़ी हैं क्योंकि उन्होंने यहां 2014 में अपना पहला दोहरा शतक जडक़र भारत को श्रीलंका के खिलाफ 404 रन तक पहुंचाया था। रोहित इस बार बतौर कप्तान श्रीलंका के खिलाफ अपना कारनामा दोहराकर भारत को जिताने के लिये उत्सुक होंगे।