India Times Group
नाटकीय मुकाबले में मलेशिया से हारकर बाहर हुआ भारत
 

बर्मिंघम। भारतीय महिला टेबल टेनिस टीम को राष्ट्रमंडल खेल 2022 में नाटकीय क्वार्टरफाइनल मुकाबले में मलेशिया के हाथों हार मिला।

मलेशिया और भारत के बीच यह ड्रॉ आखिरी मैच के आखिरी गेम तक रोमांचक रहा, और अंतत: मलेशिया ने गोल्डकोस्ट 2018 राष्ट्रमंडल खेलों की चैंपियन टीम को 3-2 से मात दी।

भारत की क्वार्टरफाइनल में शुरुआत अच्छी नहीं रही और कैरेन लिन-एलिस चैंग की जोड़ी ने रीत टेनिसन-श्रीजा अकुला को 11-7, 11-6, 5-11, 11-6 से हराया। टेनिसन और अकुला ने पहले दो गेमों में कड़ी टक्कर के बावजूद हार मिलने के बाद तीसरे गेम में वापसी की, लेकिन चौथे गेम में उनकी हार के साथ भारत 1-0 से पीछड़ गया।

इसके बाद भारत की सबसे अनुभवी खिलाड़ी मनिका बत्रा पर टीम को ड्रॉ में वापसी कराने की जि़म्मेदारी थी और उन्होंने ऐसा किया भी। बत्रा ने मलेशिया की हो यिंग को पांच गेमों के मैच में 11-8, 11-5, 8-11, 9-11, 11-3 से मात दी। यिंग ने तीसरा और चौथा गेम जीतकर बत्रा पर दबाव डालना चाहा लेकिन बत्रा ने पांचवा गेम जीतकर भारत को ड्रॉ में 1-1 से बराबरी दिलायी।

इसके बाद श्रीजा अकुला ने एलिस चैंग को 11-6, 11-6, 11-9 के सीधे गेमों में हराकर भारत को 2-1 की बढ़त दिलायी, लेकिन चौथे मैच में मनिका बत्रा की कैरेन लिन के हाथों 6-11, 3-11, 9-11 की हार के बाद ड्रॉ 2-2 की बराबरी पर आ खड़ा हुआ।

राष्ट्रमंडल खेल 2022 में पहली बार भारतीय महिला टेबल टेनिस टीम का कोई ड्रॉ तीन मैचों से ज्यादा खेला गया था, और पांचवां मैच जीतकर राष्ट्रमंडल खेल 2018 की विजेता टीम को सेमीफाइनल में ले जाने की जिम्मेदारी रीत टेनिसन के ऊपर थी। रीत ने पहला गेम 12-10 से जीता, लेकिन दूसरा गेम 11-8 से हार गयीं। तीसरा गेम जहां 11-6 से रीत की तरफ़ गया, वहीं चौथे गेम में यिंग ने 11-9 से बाज़ी मारी और भारत-मलेशिया क्वार्टरफाइनल का निर्णायक मैच अपने निर्णायक गेम में चला गया। यह ड्रॉ अपनी हद तक खिंच चुका था और दोनों खिलाडिय़ों पर दबाव का अंबार था। ऐसे में रीत टेनिसन ने भरसक प्रयास किया और 4-8 से पिछडऩे के बाद उन्होंने वापसी भी की, लेकिन यिंग ने पांचवां गेम 11-9 से जीतकर अपनी टीम को सेमीफाइनल में पहुंचाया।