दिखा दो की उत्तराखंड का पहाड़ी क्या है – रोशन रतूड़ी

उत्तराखंड की जनता आज इतनी परेशान है अपने ही द्वारा चुनी हुई सरकार से कि शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता। ऐसा लगता है जैसे उत्तराखंड की सरकार और सरकारी महकमे ने आम जनता की आवाज़ सुनना ही बंद कर दिया है। किसी भी उत्तराखंड के भोले-भाले पहाड़ी व्यक्ति को आज अगर कोई परेशानी होती है तो वह अब सरकार के ऊपर भरोसा नहीं करता है कि सरकार उनकी कोई मदद करेगी। आज अगर उत्तराखंड के पहाड़ी लोगों का दर्द कोई समझ रहा है तो वह है उत्तराखंड का शेर रोशन रतूड़ी। रतूड़ी जी विदेश में रहते हैं लेकिन अपने पहाड़ को जब भी किसी मुश्किल में देखते हैं तो उनसे रहा नहीं जाता और वह हर उस व्यक्ति की मदद करने के लिए हमेसा तैयार रहते हैं जो किसी भी तरह से सताए गए हैं, चाहे सरकार के द्वारा या किसी व्यक्ति विशेष के द्वारा।

अभी हाल में ही आपने सुना होगा या  सोशल साइट्स पर देखा होगा कि किस तरह से बिजली विभाग का एक व्यक्ति पहाड़ के भोले-भाले लोगों को मुर्ख बना कर अपनी जेब भर रहा है। लोगों को फर्जी बिल बना कर दे रहा है और हर महीने पहाड़ के लोगों को लाखों रूपए का चुना लगा रहा है। इस वीडियो में साफ-साफ दिख रहा है कि कैसे बिजली विभाग का कर्मचारी जान बुझ कर कई सो रूपए का  बिल एक ही महीने में बढ़ा देता है। अगर एक सरकारी महीने में लाखों रूपए का घोटाला कर रहा है तो सोचिये कि उत्तराखंड में कितने सरकारी कर्मचारी हैं और वह सब कितने का घोटाला कर रहे होंगे, और जब भी कोई घोटाला होता है तो ऐसा नहीं है की सिर्फ घोटाला करने वाला ही उसका मजा ले रहा हो, घोटाले से जमा धन निचे से कर ऊपर तक बंटता है इसलिए हमारी सरकार भी जान बुझ कर कान में तेल डाल कर सोती रहती है। अगर सरकार इस तरह के घोटालों को बंद करने के लिए कोई पहल करेगी तो सबसे पहले तो उनकी ही काली कमाई बंद हो जाएगी।

इस तरह के घोटालों को अगर हमको रोकना है तो उसके लिए हमको ही आवाज उठानी पड़ेगी। जब हमारा ही एक भाई विदेश में रहते हुए उत्तराखंड के लोगों के लिए आवाज उठा सकता है तो हम क्यों नहीं, हमको कौन सा नया काम करना है हमको तो बस उस आवाज़ के साथ अपनी आवाज़ जोडनी है। अगर हम लोग संगठित हो जायें तो हमको कोई मुर्ख नहीं बना सकता, हमारी यही एक कमी है जिसका फायदा सरकारी कर्मचारी और नेता लोग उठाते हैं। आज हमारे लिए  रोशन रतूड़ी नाम का शेर लड़ रहा है तो हमारा भी कर्तव्य है कि हम भी उस लड़ाई का हिस्सा बनें यह न सोचे कि यह सब मेरे घर में तो नहीं हुआ है क्योंकि हो तो यह सबके साथ रहा है बस हम देख नहीं पा रहे हैं। विदेश में रहते हुए भी रोशन रतूड़ी जी हम सब उत्तराखंड वासियों को एक जुट करना चाहते हैं जिससे हमको कोई मुर्ख न बना सके। आखिर इसमें उस व्यक्ति का तो कोई स्वार्थ नहीं है उस इंसान ने तो हमसे कभी कुछ नहीं माँगा और न ही उसको राजनीति में आना है, उसके दिल  सिर्फ अपने लोगों के लिए दर्द है जब इ वह किसी भी अपने पहाड़ी भाई-बहन को किसी मुसीबत में देखता है तो उससे रहा नहीं जाता।

आज रोशन भाई फिर से आप सबसे सिर्फ एक ही चीज मांग रहे हैं कि आप सब एक जुट हो जाइये फिर देखिये कोई भी आपको मुर्ख नहीं बना सकता है। रोशन भाई भी चाहते हैं कि जिस तरह से प्रीतम सिंह चौहान ने बिजली विभाग के कर्मचारी के खिलाफ आवाज उठाई है उस्सी तरह से आप सब भी गलत के खिलाफ आवाज़ उठाइए। आज प्रीतम सिंह जी को आप सबकी जरुरत है क्योंकि उनके ऊपर कई तरह का दबाव बनाया जा रहा है, आज ऐसे वक़्त में हम सबको प्रीतम सिंह जी के साथ कंधे से कन्धा मिला कर चलना है। आज अगर हमने प्रीतम सिंह जी को अकेला छोड़ दिया तो कल जब हमारे साथ कोई इस तरह से कुछ गलत कर रहा होगा तो हम भी अकेले ही रह जायेंगे। इसलिए सब एक हो जाइये और और हमारे प्रदेश उत्तराखंड में किसी को कुछ गलत मत करने दीजिये। रोशन रतूड़ी जी भी बोलते हैं कि आप गलत के खिलाफ आवाज़ उठाओ मैं हमेसा आपके साथ हूँ। आज हमारी बारी है हमको भी दिखाना है कि हम सब भी एक हैं और गलत बर्दास्त नहीं करेंगे फिर चाहे कोई भी हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *