पशुपालन राज्य मंत्री रेखा आर्य का बड़ा बयान, उत्तराखंड में पोल्ट्री सेक्टर बर्ड फ्लू से सुरक्षित

देहरादून। पशुपालन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रेखा आर्य ने कहा कि उत्तराखंड में अभी तक बर्ड फ्लू के संक्रमण से पोल्ट्री सेक्टर पूरी तरह से सुरक्षित है। उन्होंने पोल्ट्री फार्म संचालकों को केंद्र व राज्य सरकार की ओर से जारी दिशा-निर्देशों का पालन करने के निर्देश दिए। कहा कि हरियाणा व हिमाचल प्रदेश से मुर्गियों और अंडों के आयात पर रोक की सख्त हिदायत दी गई है। इसके बावजूद भी इन राज्यों से मुर्गियों व अंडों की सप्लाई हो रही है तो इसका संज्ञान लिया जाएगा।

गुरुवार को आईआरडीटी आडिटोरियम में पशुपालन विभाग की ओर से बर्ड फ्लू की रोकथाम के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए पशुपालन मंत्री रेखा आर्य ने कहा कि प्रदेश में अभी तक कौवों में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। इनमें भी बर्ड फ्लू का H5 N1 का संक्रमण नहीं मिला है। प्रदेश में पोल्ट्री सेक्टर इस बीमारी से पूरी तरह से सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों की ओर से बर्ड फ्लू से बचाव के लिए जो जानकारी दी गई है, उसका पालन करें।

पशुपालन निदेशक डॉ.केके जोशी ने कहा कि केंद्र के दिशा-निर्देशों के आधार पर विभाग की ओर से बर्ड फ्लू की रोकथाम के लिए सभी जिलों को निर्देश जारी किए गए हैं। एहतियाती तौर पर प्रदेश भर में पोल्ट्री फार्म से सैंपलिंग कर जांच के लिए बरेली भेजे जा रहे हैं।

पंतनगर वेटनरी कॉलेज के वैज्ञानिक डॉ.अमित कुमार ने बताया कि प्रदेश के किसी भी पोल्ट्री फार्म में बायो सिक्योरिटी को पालन नहीं किया जा रहा है। जिससे बीमारी फैलने की ज्यादा आशंका रहती है। वहीं, उन्होंने कहा कि पशुपालन विभाग, वन विभाग को प्रवासी पक्षियों के आने से पहले ही निगरानी बढ़ाने की जरूरत है। कार्यक्रम में पंतनगर विश्वविद्यालय के वैज्ञानिक डॉ.राजेश कुमार, वेंकटेश्वरा हेचरी के डॉ.एनपी सिंह ने पोल्ट्री फार्म संचालकों को बर्ड फ्लू से बचाव की जानकारी दी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *