उत्तराखंडः बॉर्डर पर बाहरी लोगों की चेकिंग के नाम पर मज़ाक… कमर्शियल गाड़ियों में बेरोकटोक घुस रहे हैं लोग

देहरादून। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड सीमा से हर दिन सैकड़ों दोनों तरफ़ को आवाजाही कर रहे हैं। डाट काली मंदिर पार करते ही देहरादून में प्रवेश करने वाली बसों को रोक दिया जाता है जिसके चलते यहां अस्थाई बस अड्डा सा बन गया है। यहां से लोग छुपते-छुपाते, बचते-बचाते उत्तराखंड में प्रवेश कर रहे हैं और कोरोना संक्रमण फैलने की आशंकाओं को बढ़ा रहे हैं। मीडिया के रिएलिटी चेक में प्रशासन की घोर लापरवाही दिखी और यह भी साफ़ हो गया कि ऐसे प्रदेश में कोरोना पर नियंत्रण नहीं किया जा सकेगा।

40 रुपये में बॉर्डर पार 

उत्तराखंड सरकार भले ही प्रदेश की सीमाओं में प्रवेश के लिए RT-PCR टेस्ट को अनिवार्य कर चुकी हो लेकिन उत्तर प्रदेश से खचाखच भरकर आने वाले लोग बिना किसी टेस्ट से राज्य में घुस रहे हैं। दरअसल यूपी से आने वाली बसों को तो उत्तराखंड की सीमा के बाहर रोक दिया जा रहा है लेकिन व्यवसायिक वाहनों की खुली एंट्री है।

अब लोग बसों से उतरकर ट्रैक्टर, टैम्पो या डम्पर में सवार हो जा रहे हैं और सीमा में प्रवेश कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश बॉर्डर पर इन लोगों ने मीडिया को बताया कि व्यवसायिक वाहन चालक सीमा में प्रवेश के लिए 40 से 60 रुपये तक वसूल रहे हैं।

पुलिसकर्मियों ने हाथ झाड़े 

मीडिया टीम के सामने ही चार लोग बस से उतरे डम्पर पर चढ़ गए और चेकपोस्ट पर इनकी कोई चेकिंग नहीं हुई। मीडिया ने इस बारे में चेकपोस्ट पर तैनात सिपाही से पूछा तो पहले तो वह बहाने बनाने लगा और  इस लापरवाही पर पहले तो सिपाही बहाने बनाने लगा फिर अपने अधिकारी पर ज़िम्मेदारी डाल दी। मीडिया ने एसओ से बात की तो वह इस मामले की जांच की बात कहने लगे।

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के आंकड़े रोज़ डरावनी रफ़्तार से बढ़ रहे हैं। देहरादून में संक्रमण दिन-ब-दिन तेज़ होता जा रहा है। सरकार को शायद इसकी असल वजह पता न चल रही हो क्योंकि संभवतः अधिकारी, ‘सब कंट्रोल में है’ ही बता रहे होंगे। ज़मीनी हकीकत मीडिया आपको बता रहा है। अब शायद कुछ स्थिति सुधरे।

Source link

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *