संयुक्त राष्ट्र के मंच पर पीएम मोदी आतंकवाद पर खोलेंगे पाकिस्तान की पोल

नई दिल्ली, एजेंसी| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को भारतीय समयानुसार शाम साढ़े सात बजे से आठ बजे के बीच संयुक्‍त राष्ट्र महासभा  के 74वें सत्र को संबोधित करेंगे। माना जा रहा है कि अपने संबोधन में वह विकास, क्षेत्रीय चुनौतियां, शांति, सुरक्षा और आतंकवाद का मुद्दा उठा सकते हैं। यही नहीं वह प्रायोजित आतंकवाद को लेकर पाकिस्‍तान की पोल भी खोल सकते हैं। साथ ही वह अच्‍छे और बुरे आतंकवाद के नाम पर दोहरा रवैया अपनाने वाले देशों को घेरते नजर आ सकते हैं। पीएम मोदी के भाषण के कुछ देर बाद पाकिस्तान के पीएम इमरान खान का संबोधन होगा। इसमें वह एकमात्र एजें‍डे के तहत कश्‍मीर का रोना रो सकते हैं।   पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत संयुक्‍त राष्ट्र महासभा  में संबोधन के लिए हर नेता को भाषण के लिए 15 मिनट मिलेंगे। कार्यक्रम के शुरू होने के लगभग डेढ़ घंटे बाद सातवें नंबर पर पीएम मोदी का संबोधन होगा। वहीं इमरान खान का भाषण दसवें नंबर पर होगा। यानी पीएम मोदी के भाषण के लगभग 30 मिनट बाद इमरान खान  को संबोधित करेंगे। इस बात की संभावना है कि पीएम मोदी के भाषण के दौरान इमरान खान हॉल में मोजूद रहे। लेकिन इमरान खान के संबोधन तक पीएम मोदी वहां से निकल चुके होंगे। माना जा रहा है कि पीएम मोदी अपने भाषण से करीब 20-30 मिनट पहले ही वहां पहुंच जाएंगे।

Loading...

संयुक्‍त राष्ट्र महासभा  में साल 2014 के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ये दूसरा भाषण होगा। संयुक्त राष्ट्र में भारत हमेशा ही बेबाकी से अपना पक्ष रखता आया है। पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सितंबर 2016 में संयुक्‍त राष्ट्र महासभा के 71वें सत्र में पाकिस्तान को कश्मीर मुद्दे पर कड़ी चेतावनी दी थी जो चर्चा के केंद्र में रही। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सीमा पार आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान को इस वैश्विक मंच से चेतावनी भी दे सकते हैं। अभी हाल ही में  ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में पाकिस्तान का नाम लिए बगैर पीएम मोदी ने उस पर तगड़ा हमला बोला था। पीएम मोदी ने कहा था कि कश्‍मीर पर भारत के फैसलों से उन्‍हें परेशानी हो रही है जिनसे खुद अपना मुल्‍क नहीं संभल रहा है। ये वहीं लोग हैं जो आतंकियों को पालते पोसते हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *