पाकिस्तान पुलिस ने दाढ़ी बना रहे चार लोगों को हिरासत में ले लिया, आखिर क्या थी वजह

पाकिस्तान, एजेंसी | पुलिस को क़ानून व्यवस्था बनाए रखने का काम दिया जाता है। इसके लिए उनके पास हिरासत में लेने का भी हक़ होता है। लेकिन जरा सोचिये कि यदि किसी को एक अलग तरीके से दाढ़ी बनाने के लिए हिरासत में लिया जाए तो  क्या होगा। ये मामला पाकिस्तान के खैबर पख्तून्वा प्रांत का है। यहाँ कुछ लोग दाढ़ी कटवा रहे थे। तभी वहां के दुकानदारों की उनियां का प्रेसिडेंट समीन आया और उनसे पूछने लगा कि वे स्टाइलिश तरीके से दाढ़ी क्यूँ बना रहा है, ये सब यहाँ बैन है। प्रेसिडेंट ने तुरंत पुलिस को खबर कर दी। पुलिस ने आकर चार अलग अलग सैलून वालों को तुरंत हिरासत में ले लिया। साथ ही 5000 रूपये का जुर्माना भी लगाया और आगे से ऐसे दाढी बनाने के लिए उन सबको सचेत भी किया।

Loading...

 जब मीडिया इस बारे में पुलिस से पूछने गयी तो पुलिस ने हिरासत में लेने की बात को तुरंत स्वीकार कर लिया लेकिन जुर्माने की बात को नहीं किया। इसके ऊपर कोई भी ऍफ़ आई आर दर्ज नहीं की गयी है।  हालांकि एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने स्टाइलिश दाढ़ी के लिए बार्बर को हिरासत में लेने से इंकार किया।  उन्होंने कहा कि दो दुकानदारों ने आपस में मारपीट कर ली थी। जिसके बाद उन्हें हिरासत में लिया गया था और फिर छोड़ दिया गया। दरअसल कुछ महीने पहले पेशावर शहर में बार्बर की एक बैठक के दौरान लिया गया था कि स्टाइलिश दाढ़ी गैर-इस्लामिक है।  फ्रेंच कट और अंग्रेजी स्टाइल दाढ़ी से हमारी संस्कृति के लिए बड़ा खतरा है। इसलिए इन विदेशी संस्कृतियों को देश में पनपने नहीं देना चाहिए। इस प्रकार से इसके ऊपर प्रतिबन्ध लगा दिया गया। इस प्रतिबंध को फॉलो न करने वाले के खिलाफ कार्रवाई करने की बात भी कही गई। इसके लिए पूरे प्रांत में पर्चे भी बांटे गए और साथ ही सभी सैलूनों के गेट पर ये पर्चे चिपका दिए गये। अब सबसे ज्यादा हैरान करने वाली बात तो ये है कि यूनियन के नियमों के आधार पर पुलिस ने कारवाई कैसे कर दी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *