उत्तराखंड: गैरसैंण में बजट सत्र का पहला दिन, मोटर मार्ग की मांग लेकर पहुंचे आंदोलनकारियों पर पुलिस ने भांजी लाठियां

उत्तराखंड की ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण (भराड़ीसैंण) में विधानसभा का बजट सत्र आज से शुरू हो गया है। सदन की कार्यवाही 11 बजे राज्यपाल के अभिभाषण से प्रारंभ हुई। इसके पूर्व राज्यपाल को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। राष्ट्र गान के साथ सदन की कार्यवाही शुरू की गई।

राज्यपाल बेबी रानी मौर्य के बजट अभिभाषण से पहले ही कांग्रेस ने बेरोजगारी के मुद्दे पर सदन से वॉकआउट कर दिया। राज्यपाल ने 40 मिनट का अभिभाषण दिया। अब दोपहर बाद विधानसभा सत्र की कार्यवाही शुरू होगी।

राज्यपाल का अभिभाषण  
राज्यपाल ने अपने अभिभाषण के दौरान बताया कि प्रदेश में एनसीडीसी के माध्यम से एक समान उपज, उत्पाद के उत्पादन और विपणन के लिए कलस्टरवार कृषक उत्पादक संगठन का गठन किया गया है। मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत मोटर साइकिल टैक्सी योजना संचालित कर दो वर्षों तक ब्याजमुक्त ऋण की व्यवस्था की गई है। प्रदेश के 151 सूक्ष्म जलागमों के 4343 वर्ग किमी क्षेत्र में 1357 करोड़ बाह्य वित्त पोषित और 150 करोड़ केंद्र पोषित जलागम विकास योजनाएं क्रियान्वित की जा रही हैं।

सैकड़ों लोगों ने विधानसभा कूच किया, पुलिस के साथ तीखी नोक-झोंक
चमोली जिले के गोपेश्वर में नंदप्रयाग घाट मोटर मार्ग को डेढ़ लाईन चौड़ा करने की मांग को लेकर सैकड़ों लोगों ने सोमवार को विधानसभा कूच किया। इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को जंगलचट्टी बैरियर पर रोक दिया। पुलिस के साथ आंदोलनकारियों की नोक-झोंक भी हुई। इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया और पानी की बौछारें भी कीं।

इंदिरा हृदयेश ने कांग्रेस विधायकों की बैठक बुलाई
रविवार को भराड़ीसैंण पहुंचीं नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश ने कांग्रेस विधायकों की बैठक बुलाई और रणनीति पर मंथन किया। उधर, संसदीय कार्यमंत्री मदन कौशिक ने सदन शांतिपूर्ण ढंग से संचालित करने के लिए विपक्ष से सहयोग की अपील की। इस बीच मुख्यमंत्री ने भी भाजपा विधानमंडल दल की बैठक में फ्लोर मैनेजमेंट पर चर्चा की।

सत्र में शामिल होने के लिए राज्यपाल रविवार दोपहर करीब साढ़े बारह बजे भराड़ीसैंण पहुंच गईं थीं। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी द्वाराहाट में एक जनसभा को संबोधित करने के बाद हेलीकॉप्टर से शाम को भराड़ीसैंण पहुंच गए थे।

मुख्यमंत्री के पहुंचने से पहले ही सरकार के कई प्रमुख मंत्री, भाजपा और कांग्रेस के विधायक, विधानसभा उपाध्यक्ष, शासन के आला अधिकारी व कर्मचारी भराड़ीसैंण पहुंच चुके थे। कार्यमंत्रणा समिति की बैठक विधानसभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई। बैठक में सत्र की कार्यसूची (एजेंडे) को लेकर चर्चा हुई।

बजट सत्र में शामिल होने के लिए रविवार को मुख्यमंत्री, राज्यपाल, सरकार के कई मंत्री तो भराड़ीसैंण पहुंच गए थे, लेकिन विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल भराड़ीसैंण नहीं पहुंचे। वह सोमवार सुबह हेलीकॉप्टर से पहुंचे।

चार मार्च को पेश होगा बजट
कार्यमंत्रणा समिति की बैठक में सदन की कार्यवाही के एजेंडे पर चर्चा हुई। प्रदेश सरकार का बजट चार मार्च को पेश होगा। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत सदन के पटल पर बजट रखेंगे।

सीएम ने ली बैठक, होमवर्क के साथ आएंगे मंत्री
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भाजपा विधानमंडल दल की बैठक ली। बैठक में सदन के भीतर सत्तापक्ष के सदस्यों की भूमिका पर चर्चा हुई। साथ ही मंत्रियों से अपेक्षा की गई कि वे पूरे होमवर्क के साथ सदन में आएंगे। सदस्यों को राज्य सरकार की नीतियों, कार्यक्रमों और योजनाओं से जुड़े विषय उठाने को कहा गया है। संसदीय कार्यमंत्री मदन कौशिक ने बैठक का संचालन किया।

सत्र के लिए सरकार की पूरी तैयारी है। सर्वदलीय बैठक में विपक्ष से सदन शांतिपूर्ण ढंग से चलाने की अपील की गई है। विपक्ष ने पूरा सहयोग किया है। आशा करते हैं कि सत्र के दौरान जनहित से जुड़े मुद्दों पर रचनात्मक और सारगर्भित चर्चा होगी।
– मदन कौशिक, संसदीय कार्यमंत्री

सदन में उठाने के लिए हमारे पास कई विषय हैं। प्रदेश सरकार की कई कमियां हैं, जिन्हें हम सामने लाएंगे, प्रश्नों के जवाब मांगेंगे। हमें ऐसा लगता है कि बेरोजगारी, महंगाई, खेती किसानी, विकास के मुद्दे पर सरकार गंभीर नहीं रही है।
– डॉ. इंदिरा हृदयेश, नेता प्रतिपक्ष, कांग्रेस

Source Link

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *