India Times Group
यमकेश्वर क्षेत्र के इन दो विद्यालयों का उत्कृष्ट अटल आदर्श विद्यालय के रूप में हुआ चयन
 

यमकेश्वरः उत्तराखण्ड शिक्षा निदेशालय द्वारा जारी आदेश में द्वितीय चरण में प्रदेश भर के 135 विद्यालयों में से यमकेश्वर के दो राजकीय इण्टर कॉेलेज मोहनचट्टी और राजकीय इण्टर कॉलेज गंगाभोगपुर का चयन किया गया है। यह क्षेत्र के नौनीहालों के लिए अच्छी खबर है, इससे इन विद्यालयों की शिक्षा व्यवस्था में सुधार के साथ सभी विषयों का अध्यापन कार्य अंग्रेजी और हिंदी दोनो माध्यम से होगा जिससे विद्यार्थियों को आगे की उच्च शिक्षा व्यवस्था में आसानी हो सके। इसके साथ ही विद्यालय के भवन, फर्नीचर आदि की व्यवस्था के साथ ही पुस्तकालय एवं विज्ञान विषयों के लिए प्रयोगशाला आदि की व्यवस्था की जायेगी। इसके साथ ही इन विद्यालयों में शिक्षकों की कमी दूर की जायेगी। निजी स्कलों की तर्ज पर इन विद्यालयों में सीबीएससी पैटर्न पर आधारित पठन पाठन का कार्य किया जायेगा। बता दें कि यमकेश्वर ब्लॉक के चारों दिशाओं से एक एक राजकीय स्कूलों का चयन हुआ है। इस तरह यमकेश्वर से चार विद्यालय राजकीय इण्टर कॉलेज भृगुखाल, राजकीय इण्टर कॉलेज गैंण्डखाल, राजकीय इण्टर कॉलेज मोहनचट्टी और गंगा भोगपुर का चयन किया गया। बता दें कि गंगा भोगपुर और मोहनचट्टी आदर्श विद्यालय के रूप में चयनित हैं।

यमकेश्वर क्षेत्र में शिक्षा व्यवस्था में सुधार लाने के लिए सरकार द्वारा किये गये प्रयासों के तहत पहले राजकीय इण्टर कॉलेज भृगुखाल, और गैंण्डखाल का चयन हुआ था। पूर्व में गैंण्डखाल इण्टर कॉलेज का नाम चयन हुआ था लेकिन बीच में संशोधन कर राजकीय इण्टर कॉलेज मोहनचट्टी को चयन किया गया जिसके फलस्वरूप गैंडखाल के निवासियों द्वारा आंदोलन किया गया जिसके सापेक्ष पुनः फिर गैंण्डखाल राजकीय इण्टर कॉलेज का चयन पहली सूची में कर दिया गया था।