India Times Group
यमकेश्वर की तालघाटी स्थित तालेश्वर मंदिर के परिसर में रहने वाले तथाकथित बाबा ने स्थानीय ग्रामीणों से की गाली गलौज,

राजस्व पुलिस ने दर्ज की रिपोर्ट

 

यमकेश्वर। यमकेश्वर क्षेत्र के तालघाटी में बने तालेश्वर महादेव के मंदिर में पिछले तीन ताल से वहॉ पर महाकाल गिरी नाम से तथाथित बाबा वहॉ पर झोपड़ी बनाकर निवास कर रहा था। उसने तालेश्वर महादेव मंदिर के पास ही एक अन्य मंदिर बनाकर वहॉ रहने लगा। स्थानीय निवासियों के अनुसार तथाकथित बाबा खुद को महाकाल का भक्त बताता है।स्थानीय निवासियों ने बताया कि तथाकथित बाबा पूर्व में यमकेश्वर क्षेत्र में पंचायती राज विभाग में ग्राम पंचायत अधिकारी के पद पर कार्यरत था। लेकिन बाद में सरकारी नौकरी से त्याग पत्र देकर उन्होनें बाबा का रूप धारण कर लिया। विगत तीन सालों में उक्त बाबा के द्वारा क्षेत्र के लोगों के साथ कई बार अभद्रता का व्यवहार किया गया। स्थानीय निवासियों का कहना है कि बाबा के निवास पर मंदिर के श्रद्धालु कम और नशा करने वाले अधिक लोग आते थे जिसका कई बार विरोध किया गया।

स्थानीय निवासियों ने बताया कि तथाकथित बाबा ने कल दिनांक 17 नवम्बर  को दोपहर में स्थानीय लोगों के साथ गाली गलौज की और गॉव के स्थानीय लोगों के साथ अभद्रता का व्यवहार और गाली गलौज की । जिसकी शिकायत स्थानीय राजस्व विभाग में की गयी।  क्षेत्रीय राजस्व पटवारी वैभव कुमार ने बताया कि तथाकथित बाबा पर स्थानीय निवासियों के शिकायत के आधार पर राजस्व पुलिस दण्ड अधिनियम के तहत गाली गलौज और शांति भंग करने के आरोप में धारा 107/16 के तहत दर्ज की गयी, जैसे ही तथा कथित बाबा यदि मौके पर मिल जाते हैं तो धारा 51 के तहत एसडीएम के सामने प्रस्तुत कर दिया जायेगा। बताया जा रहा है कि अभी बाबा अपनी कुटिया से फरार  है।

बताया जा रहा है कि उक्त तथा कथित बाबा के द्वारा पहले भी स्थानीय लोगों  निवासियों पर चिमटे से वार किया गया, और अब ग्रामीणों के साथ गाली गलौज कर रहा है। क्षेत्र में दहशत का माहौल व्याप्त है। ऐसे में लोगों को क्षेत्र में आने जाने में डर लग रहा है। स्थानीय निवासी मोहन सिंह बिष्ट, अरविंद सिंह बिष्ट, बीरेन्द्र सिंह रावत, दरवान सिंह चौहान, कीर्तिवर्धन रावत आदि ने कहा कि जल्द से लल्द उक्त तथाकथित बाबा पर नियमानुसार शासन प्रशासन से कार्यवाही करने की मॉग की है।