India Times Group
औपचारिकता बनकर रह गया बहुद्देश्यीय शिविर, नहीं पहुंचे सक्षम अधिकारी
 

विकासनगर। तहसील परिसर में आयोजित बहुद्देश्यीय शिविर सक्षम अधिकारियों के मौजूद नहीं रहने से औपचारिकता बनकर रह गया। शिविर में कुल 19 शिकायतें दर्ज हुईं। जिनमें महज दस शिकायतों का ही समाधान हो पाया। शिविर में मौजूद अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष मूरतराम शर्मा ने अधिकारियों के मौजूद न रहने पर गहरी नाराजगी जताई। कहा कि लापरवाह और गैरहाजिर अधिकारियों के खिलाफ आयोग सख्त कार्रवाई करेगा।

अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष मूरतराम शर्मा के निर्देश पर शुक्रवार को जिला समाज कल्याण विभाग की ओर से त्यूणी तहसील परिसर में बहुद्देश्यीय शिविर आयोजित किया गया। जिसमें सभी जिला और ब्लॉक व तहसील स्तरीय विभागों के अधिकारियों को मौजूद रहने के निर्देश दिए गये थे। लेकिन कई विभागों के सक्षम अधिकारी शिविर में नहीं पहुंचे। यहां तक कि शिविर में चिकित्सकों का दल न पहुंचने से दिव्यांगों के प्रमाण पत्र नहीं बन पाये। प्रमाण पत्र बनाने के लिए पहुंचे दिव्यांगों को बैरंग लौटना पड़ा। शिविर में दर्ज 19 शिकायतों में दस का ही निस्तारण हो पाया। जिस पर आयोग के अध्यक्ष ने अधिकारियों को पंद्रह दिन के भीतर संबंधित विभागों को निस्तारण करने के निर्देश दिए। प्रधान सहजराम, श्याम सिंह ने चांजोई और झिटाड मार्ग के मुआवजे का मामला उठाया। आयोग के अध्यक्ष ने लोनिवि के एई को मुआवजा निस्तारण के निर्देश दिए। प्रधान रतन सिंह ने गुतियाखड्ड में सुलभ शौचालय निर्माण की मांग की। नीरज शर्मा ने भाटगढी पंचायत में रायगी पंचायत के मतदाताओं के नाम जुड़े होने का मामला उठाया। ट्यूटाड, खडकीनल, भगवत में प्राथमिक स्कूल बंद रहने की शिकायत की गयी।

एसएडी भटाड में चिकित्सक के नदारद रहने की शिकायत दर्ज की गयी। पशु चिकित्सालय त्यूणी में तीन वर्ष से पशु चिकित्सक न होने का मामला ग्रामीणों ने उठाया। प्रधान श्याम सिंह और प्रियंका ने मनरेगा भुगतान कराने, प्रधान नवीन जोशी निनूस सड़क के डामरीकरण की मांग की। इस मौके पर तहसीलदार जितेंद्र सिंह नेगी, एई सिंचाई वीके चौधरी, एसडीओ ऊर्जा निगम अशोक कुमार, एई लघु सिंचाई बीडी बेंजवाल, एई लोनिवि एसएस नेगी, पूर्ति निरीक्षक विजय कैंतुरा, एसडीओ विकासखंड आरएस नेगी, एई विनोद कुमार, आशीष कुमार, एसएन सेमवाल, अजय ठाकुर, उमेश शर्मा, पान सिंह राणा, राजाराम शर्मा, शांतिराम, नीरज श्र्मा, रामलाल, रमेश डोभाल, हरीश, शूरवीर राणा, तिलक राणा, शूरवीर डोभाल आदि मौजूद रहे।