India Times Group
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तराखंड में पलायन रोकने के लिये चिंता नही चिंतन करना होगा
 

यमकेश्वर। उत्तराखंड में तीन दिन के प्रवास पर आये योगी आदित्यनाथ ने अपने गुरु अवैद्यनाथ की मूर्ति का अनवारण किया। उन्होंने अपने वक्तव्यों में उत्तर प्रदेश के विकास से लेकर प्रधानमंत्री मोदी के द्वारा किये गए कार्यो का वर्णन करते हुए कहा कि उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश दोनो राज्य एक साथ मिलकर विकास की गति को आगे बढ़ाया जा सकता है। इस मौके पर उन्होंने कहा कि आज बहुत समय बाद यमकेश्वर की धरती पर आने का सौभाग्य मिला है, यह धरती उनके बाल्यकाल की और युवावस्था का महत्वपूर्ण समय व्यतीत किया।

उन्होंने अपने वक्तव्य को जारी रखते हुए कहा कि उत्तराखंड में पलायन पर अब चिंता की नही बल्कि चिंतन की जरूरत है। उत्तराखंड से पलायन रोकना केवल राज्य के लिये आवश्यक नही बल्कि पूरे देश के लिये सामरिक महत्व के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है।
उन्होंने कहा कि उत्तराखंड राज्य मुख्यमंत्री धामी के विकास के मार्ग पर अग्रसर हो रहा है, उन्होंने चंपावत उप चुनाव कक जिक्र करते हुए कहा कि धामी को पूरे 5 साल विकास की गति को आगे बढ़ाने के लिये उनका। कुशल नेतृत्व जरूरी है। इसके साथ उन्होंने कहा कि मेरे गुरु और गोरखपुर के सांसद अवैद्यनाथ की पावन जन्म भूमि भी यमकेश्वर ही है, आज उन्हें इस धरती पर आने का अवसर मिला है।

उन्होंने जिक्र करते हुए कहा कि उत्तराखंड में प्राकृतिक संसाधनों के अपार भंडार है। उन्होंने कहा कि यँहा का युवा और पानी का सही दिशा में उपयोग में लाया जाए तो उत्तराखंड स्वत ही विकास की गति अपने आप ही चल पड़ेगी। अपने वक्तव्य में कहा कि उत्तराखंड में पानी स्त्रोत भी सूखने लगे है, मैं अभी आया तो यमकेश्वर मन्दिर के समीप बहने वाली नदी शतरुद्रा का पानी का स्तर बहुत कम हो गया है, हम बचपन मे यँहा गर्मियों में नदी स्नान करने आते थे। लेकिन अब देख रहा हूँ कि पानी नदी में बहुत कम हो गया है।

वही उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड एक साथ मिलकर एक नया अध्याय लिख रहे है योगी जी के नेतृत्व में जँहा अयोध्या में राम मंदिर और काशी विश्वनाथ मंदिर जिस तरह से बना है वह एक नया आयाम स्थापित कर रहा है।

इस मौके पर सांसद तीरथ सिंह रावत, पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज, धन सिंह रावत, यमकेश्वर विधायक रेनू बिष्ट, महंत चिन्मयानंद यमकेश्वर ब्लॉक प्रमुख आशा भट्ट आदि उपस्थित रहे।