India Times Group

आज बाल दिवस के रुप में मनाया जा रहा प्रथम प्रधानमंत्री स्व. पंडित जवाहरलाल नेहरु का जन्मदिवस

 

देहरादून। आज 14 नवंबर के दिन को बाल दिवस के रुप में मनाया जा रहा है, हर एक जगह पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है, वहीं आज बाल दिवस के साथ ही भारत के प्रथम प्रधानमंत्री स्व. पंडित जवाहरलाल नेहरु का जन्मदिवस भी है। आपको बता दें कि भारत के प्रथम प्रधानमंत्री स्व. पंडित जवाहरलाल नेहरु को बच्चों से बेहद प्रेम था, जिसके चलते उनकी मृत्यु के बाद से हर साल 14 नवंबर को स्व. पंडित जवाहरलाल नेहरु के जन्मदिवस को बाल दिवस के रुप में मनाने का फैसला किया गया, और तब से लेकर हर साल उनके जन्मदिवस को बाल दिवस के रुप में मनाया जाता है। इस दिन पर पंडित जवाहरलाल नेहरु की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें याद किया जाता है, व कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।

बच्चों के इस दिवस पर उन्हें गिफ्ट वितरित किए जाते है, साथ ही विभिन्न स्थलों पर कार्यक्रम आयोजित किए जाते है। पूरे भारत में हर साल 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है, इससे पहले 20 नवंबर को भारत में बाल दिवस मनाया जाता था, लेकिन स्व. पंडित जवाहरलाल नेहरु की मृत्यु के बाद से उनके जन्मदिवस पर बाल दिवस मनाया जाने लगा। नेहरू बच्चों के अधिकार और शिक्षा प्रणाली के समर्थक थे, उनका मानना था कि बच्चे देश का भविष्य और समाज की नींव होते हैं।

इसलिए उनकी भलाई का ध्यान रखा जाना चाहिए, उनके लिए भी एक दिन का चुनना चाहिए, जब केवल उस दिन पर उनके लिए कार्यक्रम आयोजित किए जाए। 1964 में जवाहरलाल नेहरू की मृत्यु के बाद से, उनकी जयंती पर 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाने लगा। बाल दिवस नेहरू की जयंती के अलावा, बच्चों की शिक्षा और अधिकारों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए भी मनाया जाता है।