India Times Group

चोटियों पर हुए हिमपात के बाद तापमान में आयी गिरावट, जानिए आज कैसा रहेगा मौसम का हाल

 

देहरादून। चोटियों पर हुए हिमपात के बाद उत्तराखंड में तापमान में कुछ गिरावट दर्ज की गई है और इस कारण सुबह-शाम ठंड बढ़ गई है। हालांकि, दिन में तापमान सामान्य है। मौसम विभाग के अनुसार, प्रदेश में आज मौसम सामान्य रहेगा। रविवार से एक बार फिर पहाड़ों में हल्की वर्षा-बर्फबारी हो सकती है। अगले कुछ दिनों में मौसम में ठंडक और बढ़ने के आसार हैं। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार आज प्रदेश के ज्यादातर शहरों में मौसम शुष्क रहने की संभावना है। सुबह-शाम हल्की हवा चल सकती है। रविवार से मौसम फिर बदल सकता है। दो दिन उत्तरकाशी, चमोली, पिथौरागढ़ में हल्का हिमपात हो सकता है। निचले इलाकों में हल्‍की बारिश हो सकती है और तापमान में गिरावट आ सकता है।

फरवरी 2021 में एनटीपीसी की तपोवन विष्णुगाड़ जल विद्युत परियोजना में आयी आपदा में लापता हुए एक और व्यक्ति का शव शुक्रवार को जल विद्युत परियोजना की टनल से बरामद हुआ है। आपदा में लापता 206 व्यक्तियों में से अब 119 के शव बरामद हो चुके हैं।शुक्रवार को ऋत्विक कंपनी तपोवन के चिकित्साधिकारी डा. सुशील कुमार शर्मा ने जोशीमठ थाना पुलिस को सूचना दी। इसमें बताया कि एसएफटी आउटफाल वाली टनल में रैणी आपदा से संबंधित एक पुरुष का शव बरामद हुआ है।

इस पर पुलिसकर्मी एसएफटी टनल के पास पहुंचे तो टनल से करीब 545 मीटर अंदर एक पुरूष का शव बरामद हुआ है। शव की तलाशी में उसका आधार कार्ड बरामद हुआ है। इसमें उनका नाम प्रमोद पुत्र साधु राम निवासी ग्राम अक्लसिया सहारनपुर उत्तर प्रदेश मिला है।इस संबंध में कंपनी के चिकित्साधिकारी सुशील कुमार शर्मा ने बताया कि प्रमोद हमारी कंपनी में कार्य करता था जो कि वर्ष 2021 में आई आपदा में लापता हो गया था। इस संबंध में मृतक के भतीजे सचिन सैनी पुत्र रमेश चंद्र निवासी से फोन पर संपर्क कर शव की फोटो एवं आधार कार्ड को भेजा गया।

इस पर मृतक की शिनाख्त अपने चाचा प्रमोद पुत्र साधु राम के रूप में की गई है। इसके बाद शव को सीआइएसएफ गेट के पास बनी अस्थाई मोर्चरी के डीप फ्रीजर पर रखा गया।वहीं गढ़वाल मंडल में देवाल खेता मोटर मार्ग पर सुयालकोट में भूस्खलन के चलते 15 दिन बाद भी आवाजाही ठप है। इससे आठ हजार की आबादी के सामने आवश्यक वस्तुओं की किल्लत होने लगी है।

पूर्व जेष्ठ प्रमुख मोहन राम आर्य, पूर्व जिला पंचायत सदस्य राजेन्द्र दानू, प्रधान उदयपुर सरोजनी बागड़ी, क्षेपंस जशवंत कुंवर ने कहा कि ग्रामीणों को चार किमी पैदल चलकर सुयालकोट से चढ़ाई पार कर मोटर मार्ग पर पहुंचना पड़ रहा है। उन्होंने शीघ्र ही वैकल्पिक रास्ता बनाकर क्षेत्र में आवश्यक सामग्री पहुंचाने की मांग की है। पीएमजीएसवाई के ईई प्रमोद गगाडी ने कहा कि वैकल्पिक रास्ता बनाने के लिए विभाग ने काम करना शुरू कर दिया है। शीघ्र पैदल रास्ता तैयार कर दिया जाएगा।