India Times Group
उत्तराखंड के पांचवें धाम श्री हेमकुंड साहिब के लिए 19 मई को रवाना होगा पहला जत्था, 22 मई को खोले जाएंगे कपाट
 

ऋषिकेश। 22 मई को आरंभ हो रही सिखों के प्रमुख तीर्थ तथा उत्तराखंड में पांचवें धाम के रूप में पहचान रखने वाले श्री हेमकुंड साहिब की यात्रा के लिए पहला जत्था 19 मई को ऋषिकेश से रवाना होगा। श्री हेमकुंड साहिब की यात्रा के लिए सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई है। गुरुद्वारा श्री हेमकुंड साहिब मैनेजमेंट ट्रस्ट के उपाध्यक्ष नरेंद्रजीत सिंह बिंद्रा ने बताया कि इस वर्ष श्री हेमकुंड साहिब के कपाट 22 मई को खुल रहे हैं। श्री हेमकुंड साहिब की यात्रा को लेकर सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। यात्रा के पैदल मार्ग को खोलने का कार्य भी अंतिम चरण में है।

उन्होंने बताया कि श्री हेमकुंड साहिब के लिए यात्रियों का पहला जत्था 19 मई को ऋषिकेश से रवाना होगा। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल (सेनि) सरदार गुरमीत सिंह तथा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पंच प्यारों की अगुआई में यात्रियों के जत्थे को रवाना करेंगे। उन्होंने बताया कि जत्थे के प्रस्थान करने से पूर्व दरबार हाल में कीर्तन का आयोजन किया जाएगा। जिसमें कीर्तनीय रागी जत्थे तथा हेमकुंड साहिब गुरमत संगीत बाल विद्यालय के विद्यार्थी भाग लेंगे। उन्होंने बताया कि हेमकुंड साहिब की यात्रा के शुभारंभ अवसर पर प्रमुख धार्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधि भी शिरकत करेंगे। जिसमें निर्मल आश्रम, जयराम अन्न क्षेत्र, श्री भरत मंदिर, मधुबन आश्रम, नानकमत्ता गुरुद्वारा तथा सिंह सभा गुरुद्वारा के अध्यक्ष शामिल होंगे। यात्रा के मौके पर कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल, सुबोध उनियाल व महापौर अनीता मम्मी भी शामिल होंगे।

साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें रेस्टोरेंट संचालक
चारधाम यात्रा को देखते हुए खाद्य सुरक्षा विभाग ने ऋषिकेश फूड एसोसिएशन के सदस्यों के साथ बैठक कर आवश्यक दिशानिर्देश दिए। गुरुवार को वरिष्ठ खाद्य सुरक्षा अधिकारी संजय तिवारी ने तहसील स्थित कार्यालय में ऋषिकेश फूड एसोसिएशन के सदस्यों के साथ बैठक की। जिसमें उन्होंने सभी रेस्टोरेंट संचालकों को चारधाम यात्रा को देखते हुए साफ-सफाई बनाए रखने के निर्देश दिए। उन्होंने रेस्टोरेंट में मैन्यू रखने तथा रेट लिस्ट डिस्पले करने को कहा।
उन्होंने कहा कि सभी कर्मचारियों का मास्क पहनना अनिवार्य हैं। साथ ही खाना ज्यादा से ज्यादा सफाई से बनाया जाए और फूड लाइसेंस भी दुकान में चस्पा किया जाए। रेस्टोरेंट व ढाबों में ढक्कन बंद वाले कूड़ेदान ही प्रयोग में लाए जाएं। उन्होंने कहा कि खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम समय-समय पर ढाबों और रेस्टोरेंट का औचक निरीक्षण करेगी। यदि किसी भी तरह की अनियमितता पाई जाती है तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी। बैठक में एसोसिएशन के अध्यक्ष विवेक तिवारी, वरिष्ठ सदस्य आनंद, एसोसिएशन के कोषाध्यक्ष विपुल चुग, सुभान अहमद, आधार गौड़ आदि मौजूद रहे।