India Times Group
धामी राज में तेजी से बदल रही चंपावत की सूरत, 100 दिन में जनता की उम्मीदों पर खरे उतरे सीएम धामी
 

देहरादून। धामी राज में चंपावत जिले की तेजी से सूरत बदल रही है। चंपावत को आदर्श जिला बनाए जाने को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की अगुवाई में मिशन मोड पर तेजी से काम हो रहा है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के चम्पावत से विधायक चुने जाने के शनिवार को सौ दिन पूरे हो गए। इन सौ दिनों में सीएम धामी ने अपनी विधानसभा में चार दौरे कर चम्पावत विधानसभा में विकास की नींव रखी और विकास के पथ पर अग्रसर किया। जनता ने उन्हें जिस उम्मीद और विश्वास पर चम्पावत उप चुनाव में भारी मतों से जीत दर्ज कराई वह उन उम्मीदों पर अभी तक खरे साबित हो रहे हैं। सीएम धामी ने चम्पावत विधायक रहते हुए 100 दिनों में जिले में अनेक विकास कार्य संपन्न कराए। यही नहीं उन्होंने चम्पावत को आदर्श जिला बनाए जाने को मिशन मोड पर कार्य प्रारंभ कर दिए हैं। विभिन्न विभागों के उच्चाधिकारी जिले में पहुँचकर विकास कार्यों का खाका तैयार करने में जुट गए हैं। सीएम ने जिले के विकास के लिए 61 घोषणाएं की। इनमें अनेक घोषणाओं के शासनादेश व स्वीकृति मिलने के साथ ही उन्हें धरातल पर लाये जाने का काम शुरू हो गया है।

ये योजनाएं बदलेंगी तस्वीर

सीएम धामी के सहयोग से जिले में कोका कोला कंपनी द्वारा 100 सेब के बागान विकसित किए जा रहे हैं। वर्तमान में 30 सेब के बगीचे तैयार कर लिए गए हैं।

बनबसा एवं टनकपुर क्षेत्र में सिडकुल की स्थापना के लिए भूमि का चयन कर सिडकुल की स्थापना कार्यवाही गतिमान है।

महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़े जाने हेतु एवं उनके उत्पादों को बाजार एवं बेहतर मूल्य दिलाएं जाने हेतु ग्रोथ सेंटर का निर्माण किया जा रहा है।

सीमांत क्षेत्रों में संचार सुविधाओं की समस्या के समाधान के लिए 18 स्थानों में बीएसएनएल के टावर स्थापित किए जाने की कार्यवाही गतिमान है।

जिला मुख्यालय एवं टनकपुर में जनता की समस्याओं के त्वरित समाधान के लिए सीएम कैंप कार्यालय खोला गया है।

महत्वपूर्ण सड़क सूखीढांग डांडामीनार सड़क में डामरीकरण एवं सुधारीकरण करने का स्वीकृति मिल गई है।

चंपावत और टनकपुर को स्मार्ट सिटी बनाने की कवायद तेज हो गई है। नायकगोठ-थ्वालखेड़ा को जोड़ने हेतु 125 मीटर लंबा मोटर पुल जिसकी लागत 13 करोड़ 70 लाख की है की भी स्वीकृति मिल गई है।

इन योजनाओं पर तेजी हो रहा काम

चंपावत जिला अस्पताल में क्रिटिकल केयर यूनिट की स्थापना

टनकपुर में आईएसबीटी की तर्ज पर बस अड्डे के निर्माण

बनबसा में मिनी स्टेडियम निर्माण

जिला मुख्यालय में शूटिंग रेंज, बनबसा में गैस एजेंसी

चम्पावत के पर्यटन आवास गृह का भव्य निर्माण

चाय बागान से हिंगला देवी मंदिर तक रोपवे मार्ग बनाने, सिप्टी वाटरफॉल का सौंदर्यीकरण एवं गूल निर्माण
चम्पावत में पैराग्लाइडिंग के लिए भौतिक संरचना एवं प्रशिक्षण कार्य

एडवेंचर पार्क का निर्माण, प्रमुख मंदिरों को मानस खण्ड कॉरिडोर के रूप में विकसित करने का काम

माँ पूर्णागिरि मंदिर क्षेत्र व देवीधुरा मंदिर क्षेत्र का विकास प्राथमिकता के आधार पर करने का काम

बनबसा में स्टेडियम का निर्माण का काम

शारदा नदी के दाएँ पार्श्व में घसियारामण्डी बसती में शारदा नदी के किनारे बाढ़ सुरक्षा योजना बनाए जाने का काम

चंपावत-ढकना-मौरलेख-मल्लधिमास-बजौन-खेतीखांन मोटर मार्ग का निर्माण करने का काम

चम्पावत में हिगलादेवी मंदिर मोटर मार्ग का चौड़ीकरण व सुधारीकरण करने का काम

ककरालीगेट-ठुलीगाड़-भैरव मंदिर मोटर मार्ग को राज्य मार्ग के रूप में परिवर्तित करने का काम

सुखिढांग-डांडा-मीनार- ीठा साहिब मार्ग को राज्य मार्ग के रूप में परिवर्तित करने का काम

टनकपुर में नवनिर्मित नए ट्रामा सेंटर में नए फर्नीचर आदि की व्यवस्था कर उसे संचालित करने का काम

टनकपुर इंजीनियरिंग कॉलेज को आईआईटी बनाने हेतु प्रस्ताव केंद्र को भेजने का काम

चम्पावत में एआरटीओ तकनीकि कार्यालय खोलने का काम

चम्पावत में जिम कार्बेट ट्रेल बनाई जाएगी

चम्पावत-एकहथिया नौला-मायावती ट्रेक मार्ग का निर्माण करने का काम

जिले के 100 सरकारी विद्यालयों का रूपांतरण करने समेत दर्जनों घोषणाओं पर कार्यवाही गतिमान है।