India Times Group
अधिकारियों के स्तर पर लापरवाही या अनियमितता पाए जाने पर की जाएगी सख्त कार्रवाही-रेखा आर्या
माननीया मंत्री श्रीमती रेखा आर्या ने वर्चुअल माध्यम से किया महिला कल्याण विभाग के गढ़वाल मंडल की 3 दिवसीय कार्यशाला का शुभारम्भ
 

आवश्यकता श्रेणी व विधि विरुद्ध श्रेणी के बच्चों के साथ किया जाए संवेदनशीलता का व्यवहार-रेखा आर्या

माननीया मंत्री श्रीमती रेखा आर्या ने दिए निर्देश कहा कि विभागीय योजनाओं का लाभ पहुंचाए बच्चों तक

देहरादून। आज माननीया मंत्री श्रीमती रेखा आर्या ने महिला कल्याण विभाग द्वारा आयोजित 3 दिवसीय गढ़वाल मंडल की बाल कल्याण प्रशिक्षण कार्यशाला का वर्चुअल माध्यम से सुभारम्भ किया । यह कार्यशाला 5 मई से 7 मई तक चलेगी जिसमें बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष, सदस्य और किशोर न्याय बोर्ड के सदस्य मौजूद रहेंगे ।कार्यक्रम का सुभारम्भ दीन दयाल उपाध्याय वित्त प्रशासन संस्थान सुद्धोवाला ,देहरादून में किया गया।

उक्त कार्यक्रम में वर्चुअल माध्यम से जुड़ते हुए माननीया मंत्री महोदया ने समस्त अध्यक्ष/सदस्य बाल कल्याण समिति व सदस्य किशोर न्याय बोर्ड का स्वागत करते हुए कामना की कि उनके माध्यम से बच्चों को बेहतर संरक्षण प्राप्त होगा। साथ ही मा0 मंत्री जी ने आहवाहन किया कि आवश्यकता श्रेणी व विधि विरुद्ध श्रेणी के बच्चों के साथ संवेदनशीलता से व्यवहार किया जाए । मा. मंत्री श्रीमती रेखा आर्या ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि CWC/JJB को एक टीम के रूप में कार्य करते हुए विभागीय योजनाओं का लाभ बच्चों तक पहुचाएं ।माननीया मंत्री महोदया ने स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि यदि भविष्य में किसी भी अधिकारी के द्वारा कोई अनियमितता या लापरवाही पाई जाती है तो उसके विरुद्ध कठोर कारवाही की जाएगी।


वही उत्तराखंड राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्षा श्रीमती डॉ गीता खन्ना ने प्रशिक्षुओं से कहा कि राज्य के जन-जन से जुड़ने के लिए परीक्षा पर्व व पोक्सो संवेदीकरण कार्यशालाओं का आयोजन आयोग द्वारा किया जा रहा है। CWC/JJB को बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य पर ध्यान देना होगा। बच्चों की समस्याओं को स्थानीय स्तर पर हल करने के लिए समुदाय को मजबूत करने का कार्य बाल संरक्षण से जुड़ी सभी संस्थाओं/व्यक्तियों को करना चाहिए। बच्चों के साथ हमारा व्यवहार हमारी सभ्यता की ऊंचाइयों का परिचायक है।