India Times Group

विदेश भेजने के नाम पर 17 बेरोजगारों से ठगे सात लाख रुपये

 

रुड़की। लक्सर के युवक ने कुवैत भेजकर कंपनी में काम दिलाने का झांसा देकर यूपी और उत्तराखंड के 17 बेरोजगारों के करीब सात लाख रुपये हड़पने का आरोप है। धोखाधड़ी का पता चलने पर उन्होंने पैसे मांगे तो आरोपी ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी। लक्सर पुलिस मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। खतौली (मुजफ्फरनगर) निवासी भूरा पुत्र सरफराज ने लक्सर कोतवाली में तहरीर देकर बताया कि 2020 में लॉकडाउन के दौरान उसके भाई सावेज की मुलाकात गुलजार पुत्र जमील निवासी मुंडाखेड़ा कलां (लक्सर) से हुई थी। गुलजार ने उसे बताया कि वह कुवैत की कंपनी में बढ़िया वेतन पर नौकरी करता है।

कहा कि उसके पास 17 वीजा हैं, जिन पर वह युवकों को कुवैत भेजकर कंपनी में अच्छी नौकरी दिला सकता है। इसके बदले में गुलजार ने हर वीजा के 40 हजार रुपये मांगे। सावेज व भूरा ने अपने परिचितों से बात की, तो हस्तिनापुर (मेरठ) के उनके परिचित शहजाद, मोनू, परवेज, आशु, मेरठ के ही मवाना से राशिद, मुजफ्फरनगर के सुऐब, दानिश, साजिद, गोरखपुर के इस्तियाक, मंगलौर (हरिद्वार) के नाजिर आदि कुवैत जाने को तैयार हो गए। भूरा ने 13 अक्तूबर 2022 को 12 युवकों से 40-40 हजार लेकर वहीं गुलजार को दे दिए। बाकी पांच युवकों के 2 लाख रुपये उसने 10 नवंबर को लक्सर पहुंचकर गुलजार को सौंपे।

गुलजार ने इन सभी के पासपोर्ट की कॉपी उनसे ले ली। महीनों बाद भी युवकों का काम नहीं हुआ। उन्होंने अपनी रकम मांगी तो गुलजार ने इंकार करने के साथ ही उन्हें जान से मारने की धमकी दी। कोतवाल अमरजीत सिंह ने बताया कि तहरीर के आधार पर आरोपी गुलजार के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। तफ्तीश कराई जा रही है। तफ्तीश में साक्ष्य मिलने पर पुलिस कार्रवाई करेगी।