India Times Group
यूकेएसएससी के पेपर लीक मामले में एसटीएफ ने गढ़वाल मेडिकल यूनिवर्सिटी के दो कर्मचारी किए गिरफ्तार
 

देहरादून। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की स्नातक स्तरीय परीक्षा (बीपीडीओ) के पेपर लीक में एसटीएफ ने गढ़वाल मेडिकल यूनिवर्सिटी के दो कर्मचारी गिरफ्तार किए है। दोनों आउटसोर्स से यूनिवर्सिटी के प्रशासनिक कार्यालय में तैनात हैं। आरोपियों में उपनल कर्मचारी महासंघ का पूर्व अध्यक्ष शामिल है। आयोग ने बीते वर्ष दिसंबर में स्नातक स्तरीय परीक्षा कराई। इसमें गड़बड़ियां मिलने पर आयोग ने रायपुर थाने में केस दर्ज कराया। केस दर्ज होते ही जांच एसटीएफ को दे दी गई। एसटीएफ जांच में आयोग से जुड़ी एजेंसी के कर्मचारी के जरिए पर्चा लीक होने की बात सामने आई। इसके बाद सात आरोपी पूर्व में गिरफ्तार हो चुके हैं। इसमें कंपनी कर्मचारी जयजीत और उसके यहयोगी मनोज जोशी को एसटीएफ रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है।

पूछताछ में पता लगा कि जयजीत ने आयोग से पेपर निकालकर एचएनबी गढ़वाल यूनिवर्सिटी के प्रशासनिक कार्यालय में उपनल से तैनात कर्मचारी दीपक चौहान निवासी भंसवाड़ी, टिहरी, हाल निवासी बालावाला देहरादून को 36 लाख रुपये में बेचा। दीपक ने यूनिवर्सिटी में साथी कर्मचारी भावेश जगुड़ी निवासी जोगत पट्टी, उत्तरकाशी हाल निवासी विद्या विहार कारगी के साथ मिलकर पेपर को लीक किया। दोनों ने परीक्षा से पहले कई लोगों से पेपर देने की डील की। उन्होंने परीक्षा से पहले एक जगह इकट्ठा होकर पेपर में आउट किए गए प्रश्न बताए।