India Times Group
आइएमए में पासिंग आउट परेड के दौरान सेना की वर्दी में घूम रहे व्यक्ति को एसटीएफ ने किया गिरफ्तार
 

देहरादून भारतीय सैन्य अकादमी में पासिंग आउट परेड के दौरान उत्तराखंड पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) व आमी इंटेलीजेंस ने सेना की वर्दी में घूम रहे एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। आरोपित खुद को आइएमए में प्रशिक्षु सैन्य अधिकारी बता रहा था, जिसे 2017 में सेना की ओर से भगोड़ा घोषित किया गया था।

एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह ने बताया कि शनिवार को आइएमए की परेड के दौरान एसटीएफ की टीम व आर्मी इंटेलीजेंस को एक व्यक्ति भारतीय सेना के लेफ्टिनेंट रैंक के अधिकारी की फर्जी वर्दी धारण किए घूमता दिखाई दिया।

मामले की गंभीरता को देखते हुए व्यक्ति को गोपनीय स्थान पर ले जाया गया। पूछताछ में व्यक्ति ने अपना नाम ग्राम अड़बढ़ाहा देवीपुर जिला महाराजगंज उत्तर प्रदेश निवासी जयनाथ शर्मा बताया।

आरोपी ने बताया कि वह पूर्व में गोरखा रेजीमेंट में सेना में सिपाही पद पर तैनात था। वह जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में तैनात था। 2016 में नौकरी पर न आने के कारण उसे आर्मी ने भगोड़ा घोषित कर दिया।

इस दौरान आरोपित ने घर व रिश्तेदारों में बताया कि वह आइएमए में आफिसर की ट्रेनिंग कर रहा है और कई व्यक्तियों से सेना में भर्ती करवाने के नाम पर रुपये भी लिए हैं।

एसएसपी ने बताया कि आरोपित आर्मी यूनिट में अपने फर्जी कार्ड के माध्यम से घूम चुका है। प्राथमिक पूछताछ में कोई राष्ट्र विरोधी बात सामने नहीं आई है। जो भी जानकारी प्राप्त हुई उसकी सत्ययता की जांच करवाई जाएगी।

आरोपित के खिलाफ कैंट कोतवाली में मुकदमा दर्ज करवा दिया गया है। आरोपित के पास से पैरा लेफ्टिनेंट आफिसर की सेना की वर्दी जो कि लुधियाना से सिलवाई हुई थी। इसके अलावा एक पहचान पत्र, दो पहिया वाहन और कुछ फर्जी अधिकारी की मोहरे बरामद हुई हैं।