India Times Group

एसआईटी करेगी पटवारी भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले की जांच

 

हरिद्वार। पटवारी भर्ती परीक्षा का प्रश्नपत्र लीक होने के मामले की जांच के लिए एडीजी कानून व्यवस्था वी मुरुगेशन ने एसआईटी गठित कर दी है। एसआईटी की कमान एसपी अपराध रेखा यादव को सौंपी गई है। आठ सदस्यीय एसआईटी हाईप्रोफाइल प्रकरण की जांच जल्द ही शुरू कर देगी। एसएसपी अजय सिंह ने भी जांच के लिए कई अहम बिंदुओं पर एसआईटी को फोकस करने के निर्देश दिए हैं।
गुरुवार को उत्तराखंड एसटीएफ ने पटवारी भर्ती परीक्षा प्रश्नपत्र के लीक होने का पटाक्षेप करते हुए लोकसेवा आयोग के अनुभाग अधिकारी, उसकी पत्नी समेत पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया था। एसटीएफ ने दावा किया था कि अनुभाग अधिकारी संजीव चतर्वेदी की पत्नी रितु ने अपने एक परिचित पॉलीटेक्निक शिक्षक राजपाल को प्रश्नपत्र हाथ से लिखकर उपलब्ध कराया था।

शिक्षक राजपाल ने अपने रिश्तेदार के दामाद रामकुमार एवं भतीजे संजीव कुमार के साथ मिलकर अन्य सदस्यों के साथ मिलकर आठ से बारह लाख में प्रश्नपत्र तैयार कर 35 अभ्यर्थियों को बेच दिया था। बकायदा उन्हें लक्सर एवं बिहारीगढ़ सहारनपुर के एक रिजार्ट में ले जाकर ले जाकर प्रश्नपत्र रटाया गया था। एसटीएफ ने इस संबंध में कनखल थाने में मुकदमा दर्ज कराते हुए अन्य दो आरोपी प्रमोद एवं मनीष को भी गिरफ्तार लिया था। इधर, आयोग ने अधिकारी को निलंबित कर दिया था।

एसटीएफ ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर शुक्रवार को जेल भेज दिया था। आरोपियों के कब्जे से 41 लाख की रकम भी बरामद हुई थी। एडीजी कानून व्यवस्था वी मुरुगेशन ने हाईप्रोफाइल प्रकरण की जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी। एसआईटी की जिम्मेदारी एसपी अपराध रेखा यादव को दी गई है। उनके साथ एसआईटी में सीओ सदर बहादुर सिंह चौहान, निरीक्षक एसटीएफ यशपाल बिष्ट, एसओ कनखल नरेश राठौड़, एसआई सीआईयू ऋतुराज सिंह रावत, कांस्टेबल देवी प्रसाद, बलवंत एवं संजू सैनी को रहेंगे। एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि एसआईटी हर पहलू पर अपनी जांच करेगी। उन्हें इस संबंध में कुछ दिशा निर्देश भी दिए गए हैं।