India Times Group
ऋषिकेश : राफ्टिंग गाइड लाइसेंस परीक्षा में 186 युवा पास
 

ऋषिकेश। साहसिक पर्यटन के क्षेत्र में युवाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद की राफ्टिंग गाइड लाइसेंस परीक्षा में 186 युवा सफल हुए हैं। प्रदेश भर से 280 प्रशिक्षु गाइडों ने इस परीक्षा के लिए आवेदन किया था। सफल गाइडों को जल्द लाइसेंस जारी किया जाएगा। तपोवन में गंगा किनारे 30 मई से 3 जून तक राफ्टिंग गाइड लाइसेंस परीक्षा में आवेदक प्रशिक्षु गाइडों को प्रशिक्षण दिया गया। साथ ही रिवर राफ्टिंग के दौरान संभावित हादसे की रोकथाम, रेस्क्यू कार्य के लिए तकनीकी और व्यवहारिक प्रशिक्षण को परखा गया। उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद के जल क्रीड़ा विशेषज्ञ अनुज गुसाईं ने बताया कि गाइड लाइसेंस परीक्षा में 280 प्रशिक्षु गाइडों ने आवेदन किया था। परीक्षा दो चरणों में हुई, इसमें 186 युवा सफल हुए। इन्हें शीघ्र गाइड लाइसेंस प्रदान किया जाएगा ।गाइड लाइसेंस मिलने के बाद ये युवा देश-विदेश में राफ्ट संचालित कर सकेंगे।

उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद के अतिरिक्त अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी (साहसिक विंग ) कर्नल अश्वनी पुंडीर ने बताया कि उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद में राज्यभर की नदियों के लिए करीब 309 फर्में पंजीकृत हैं जो लगभग 633 राफ्टों को संचालित करती हैं। उत्तराखंड में गंगा, काली, टोंस, अलकनंदा, यमुना, कोसी, सरयू, रामगंगा पश्चिमी, रामगंगा पूर्वी व पिंडर नदी में व्यावसायिक राफ्टिंग व वाइल्ड वाटर कयाकिंग हो सकती है। गंगा में 262 पंजीकृत फर्में हैं जो 576 राफ्टों को संचालित करती हैं।

तीन साल बाद हुई परीक्षा
ऋषिकेश। कोविड संकट और अन्य कारणों से वर्ष 2018 के बाद गाइड परीक्षा आयोजित नहीं हो पाई। इससे राज्य भर के सैकड़ों प्रशिक्षु गाइडों में निराशा थी। विदेशों में रोजगार पाने के लिए पासपोर्ट बनवा चुके प्रशिक्षु गाइड विदेशी कंपनियों के बुलावे के बाद भी अधिकृत लाइसेंस नहीं होने के कारण विदेश में गाइड का काम करने नहीं जा पा रहे थे।

लाइसेंस धारक ही राफ्ट चलाने को अधिकृत
उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद के अतिरिक्त अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी (साहसिक विंग ) कर्नल अश्वनी पुंडीर ने बताया कि पर्यटन विकास परिषद की राफ्टिंग नियमावली के अनुसार किसी भी राफ्ट को एक लाइसेंस धारक गाइड ही चला सकता है और उसकी सहायता के लिए हर राफ्ट में एक सहायक रहेगा। तीन साल तक सहायक अथवा प्रशिक्षु गाइड रहने के बाद वह गाइड की परीक्षा दे सकता है। मौके पर साहसिक खेल अधिकारी टिहरी खुशहाल नेगी, राफ्टिंग एसोसिएशन यूएफओ के राजीव तिवारी, विक्रम सिंह, डा. सागर भट्ट, अरविंद भारद्वाज, विकास भंडारी, मंजुल रावत आदि मौजूद रहे।