India Times Group
डिग्रीधारी लैब टेक्नीशियनों की भी सुन लो उत्तराखंड सरकार, 22 साल बाद भी नहीं बनी नियमावली, बेरोजगारी का दंश झेलने को मजबूर
 

देहरादून। उत्तराखंड में डिग्रीधारी लैब टेक्नीशियन 22 साल बाद भी सेवा नियमावली का इंतजार कर रहे हैं। राज्य गठन के बाद जब भी कोई नई सरकार आई तो डिग्रीधारी लैब टेक्नीशियनों ने सेवा नियमावली बनाने की गुहार लगाई लेकिन किसी भी सरकार ने इनकी मांगों पर गंभीरता से गौर नहीं किया। हर सरकार से आश्वासन मिला लेकिन नियमावली बनाने की जहमत किसी ने नहीं उठाई। एक बार फिर नई सरकार के शपथ ग्रहण के बाद यह मुद्दा गरमाने लगा है। डिग्रीधारी लैब टेक्नीशियन सेवा नियमावली की मांग को लेकर प्रदेशभर में मुखर होने लगे हैं। अपनी मांगों को लेकर लैब टेक्नीशियन रजिस्ट्रार से लेकर स्वास्थ्य मंत्री तक से गुहार लगा चुके हैं।

स्वास्थ्य मंत्री ने दिया जल्द कार्यवाही का भरोसा
मेडिकल लैब टेक्नोलाजिस्ट संघ उत्तराखण्ड का प्रतिनिधिमंडल अपनी इस मांग को लेकर स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत से भी मुलाकात कर चुका है। अपनी इस अहम मुलाकाता में संघ ने स्वास्थ्य मंत्री से डिग्रीधारी लैब टेक्नीशियनों हेतु वर्षवार चयन के माध्यम से सेवानियमावली बनाए जाने की मांग की। स्वास्थ्य मंत्री ने लैब टेक्नीशियनों की मांग पर जल्द कार्यवाही का भरोसा दिया।

22 साल बाद भी नहीं बनी नियमावली
मेडिकल लैब टेक्नोलाजिस्ट संघ उत्तराखण्ड संघ के महासचिव मयंक राणा ने बताया कि राज्य बनने के 22 वर्षों के उपरान्त भी डिग्रीधारी लैब टेक्नीशियनों हेतु कोई नियमावली नहीं बनाए जाने के कारण पंजीकृत होने के बाद भी लैब टेक्नीशियन सैकड़ों की संख्या में बेरोज़गारी का दंश झेलने पर मजबूर हैं। मयंक राणा ने कहा कि अधिकांश लोगों की उम्र सेवा की अर्हता को पार कर चुकी है अथवा करने के कगार पर है। इसको देखते हुए वर्षवार चयन के आधार पर नियमावली बनायी जाए और प्रदेश में सैकड़ों ख़ाली पड़े लैब टेक्नीशियनों के पदों पर नियुक्ति की जाए। स्वास्थ्य मंत्री से मुलाकात करने में संघ के मयंक राणा, अमितकांत भट्ट, अभिषेक सोलंकी, सुरेंद्र सूरियाल, शेखर पैन्यूली, आशुतोष मलासी, सुधीर डिमरी, सतेंद्र तुसारिया,चंद्रमोहन नेगी, शैलेश चौधरी थे।

रजिस्ट्रार मुकेश कुमार राय से हुई मांगों पर विस्तार से चर्चा
मेडिकल लैब टेक्नोलाजिस्ट संघ उत्तराखण्ड द्वारा उत्तराखण्ड पराचिकित्सा परिषद के रजिस्ट्रार मुकेश कुमार राय से मिलकर उन्हें पुष्पगुच्छ व स्मृति चिन्ह देकर भेंट वार्ता की गयी जिसमें लैब सँवर्ग से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर परिचर्चा हुई। बैठक में संघ के मयंक राणा, आशीष ख़ाली, मोहन लाल भट्ट, अभिषेक सोलंकी, राजेश रावत, संदेश शर्मा, देवेंद्र भट्ट, अनुराग पंत, मोहित लखेडा, भगवती प्रसाद, कैलाश नौटियाल, राम मिश्रा परमात्मा पैनियूली आदी लोग उपस्थित थे।