India Times Group
जरूरत पड़ने पर पेपरलीक भर्ती घोटाले की होनी चाहिए सीबीआई जांच: तीरथ रावत
 

पौड़ी। पूर्व सीएम एवं गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत ने कहा कि पेपरलीक मामले की जांच गहनता से की जा रही है। कहा कि जरूरत पड़ने पर पेपरलीक भर्ती घोटाले की सीबीआई जांच होनी चाहिए। बीते बुधवार को पौड़ी में आयोजित पत्रकार वार्ता में पूर्व सीएम एवं गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार का विजन युवाओं को स्थायी रोजगार देना है।

पेपर लीक में कोई भी संलिप्त हो सबकी जांच होगी और कार्रवाई भी होगी। ल्वाली झील के संपूर्ण बजट खर्च होने के बाद भी अस्तित्व में नहीं आ पाने के सवाल पर तीरथ रावत ने कहा झील का निर्माण हमारी प्राथमिकता है। किन कारणों से निर्माण कार्य पूर्ण नहीं हो पाया इस पर विभागीय अधिकारियों से रिपोर्ट ली जाएगी। कहा कि गढ़वाल संसदीय क्षेत्र के भ्रमण के दौरान जन संवाद व कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर रहा हूं। केंद्र व प्रदेश सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं की सफलता की बाते जनता स्वयं बयां कर रही है। उन्होंने कहा देश में बीते 60 सालों में विकास रुका हुआ था। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में बीते 8 सालों में ऐतिहासिक कार्य देश में हुए हैं। उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में पहले बरसात में एक बार सड़क क्षतिग्रस्त होने के बाद हफ्ते दस दिन में यातायात के लिए खुलती थी। लेकिन मोदी के शासनकाल में उत्तराखंड में सड़को का जाल बिछ चुका है।

कहा कि पीएम मोदी के विजन को उत्तराखंड की सरकार आगे बढ़ाने का कार्य कर रही है। कहा देश ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया ने बीते तीन साल में कोविडकाल की महा त्रासदी देखी है। लेकिन मोदी के नेतृत्व में देश स्वास्थ्य की दृष्टि से सुरक्षित है। भारत विदेशों को पीपीई किट के साथ ही कोविड टीका भी भेज रही है। कई गरीब देशों को टीका निशुल्क प्रदान किया जा रहा है। कहा विश्व पटल पर भारत एक बार फिर विश्व गुरु बनने की राह पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। विधान सभा सीटो के परिसीमन के सवाल पर कहा कि परिसीमन को लेकर तात्कालिक परिस्थितियों के अनुरुप पहाड़हित में निर्णय लिया जाएगा। इस अवसर पर विधायक पौड़ी राजकुमार पोरी, नगर मंडल अध्यक्ष क्रांति किशोर नेगी, जिला मंत्री दिगंबर नेगी, अशोक डुकलान, धर्मवीर रावत, संजय पटवाल, ओपी जुगरान, राज रावत, मधु खुगशाल, सुमनलता ध्यानी, कुसुम चमोली आदि मौजूद रहे।