India Times Group
राज्यपाल ने लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी में प्रशिक्षु अधिकारियों के 97वें फाउंडेशन कोर्स को किया संबोधित
 

देहरादून । राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) ने सोमवार को मसूरी स्थित लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी में प्रशिक्षु अधिकारियों के 97वें फाउंडेशन कोर्स (आधारभूत पाठ्यक्रम) को संबोधित किया। राज्यपाल ने कहा कि आप जैसे प्रतिभाशाली युवा अधिकारी विकसित भारत के लक्ष्यों को पूरा करने का कार्य करें। उन्होंने कहा कि आज का हिन्दुस्तान नए सपने लेकर आगे बढ़ रहा हैं। आपकी प्रतिभा, कार्यकुशलता और प्रतिबद्धता के बल पर भारत विश्व गुरु बनेगा।

उन्होंने कहा कि आने वाले 25 के अमृतकाल में भारत विश्व का नेतृत्व करेगा जिसमें आप सभी युवा अधिकारियों की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी रहेगी। राज्यपाल ने कहा कि आप सभी पूरे देश में एक आईकॉन, मॉडल और प्रेरणास्त्रोत हैं। आपको राष्ट्र और पूरी मानवता की सेवा करने का जिम्मा उठाते हुए अंतिम छोर में बैठे व्यक्ति तक पहुंचना होगा। अमृतकाल के दौरान विकसित भारत के निर्माण में आपका महत्वपूर्ण रोल रहेगा।

प्रशिक्षु अधिकारियों को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा कि गुणात्मक प्रशिक्षण द्वारा कार्यकुशल एवं जवाबदेह सिविल सेवा का निर्माण करके सुशासन स्थापित करने का प्रयास किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए अकादमी में नैतिक -मूल्य प्रदान व पारदर्शी परिवेश उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आपसे पूरे राष्ट्र की अपेक्षाएं जुड़ी हैं जिस पर आपको अपना सर्वश्रेष्ठ देते हुए उस पर खरा उतरना होगा।

उन्होंने कहा कि हमेशा सुशासन के प्रति समर्पित रहें। आपके प्रयासों का नतीजा धरातल पर उतरे यह आपकी सेवा का उददेश्य होना चाहिए। राज्यपाल ने कहा कि 21वीं सदी की चुनौतियों के अनुरूप अपने आपको तैयार करते हुए देश एवं राष्ट्र निर्माण के प्रति अपना पूर्ण योगदान देते हुए भारत को विकसित भारत की ओर ले जाने के प्रयास करने होंगे।
इस दौरान राज्यपाल ने अकादमी का भ्रमण करते हुए लाईब्रेरी, डिजिटल लर्निंग सिस्टम और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मशीन लर्निंग तथा डिजिटल गवर्नमेंट एक्सपीरियंस लैब आदि का भ्रमण करते हुए अकादमी के निदेशक से जानकारी प्राप्त की। उन्होंने अकादमी में विभिन्न प्रदेशों के स्वयं सहायता समूह द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया और महिलाओं से जानकारी प्राप्त की। इस दौरान उन्होंने अकादमी द्वारा प्रकाशित पुस्तक‘‘ आयुर्वेद-जीवनशैली का आधार’’ का विमोचन भी किया।

इस अवसर पर अकादमी के निदेशक श्रीनिवास आर. कटिकिथाला ने राज्यपाल को अकादमी की विभिन्न गतिविधियों की जानकारी प्रदान की और उनका स्वागत किया। इस दौरान अकादमी की विशेष निदेशक राधिका रस्तोगी, अन्य अधिकारीगण और प्रशिक्षु प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित रहे।