India Times Group
देहरादून में डेंगू का पहला मामला, इंदिरानगर स्थित डे-बोर्डिंग स्कूल के 51 वर्षीय शिक्षक में हुई पुष्टि
 

देहरादून। राजधानी देहरादू में डेंगू का पहला मामला आया है। इंदिरानगर स्थित डेदृबोर्डिंग स्कूल के 51 वर्षीय शिक्षक में डेंगू की पुष्टि हुई है। अभी मरीज की स्थिति सामान्य है और वह स्कूल कैंपस में ही उपचार ले रहे हैं। स्कूल के विजिटिंग डाक्टर उन्हें देख रहे हैं। वहीं विभाग ने स्कूल परिसर का निरीक्षण कर वहां निरोधात्मक करवाई की है। विभाग के अनुसार वहां लार्वा नही मिला है। फिर भी एहतियात बरती जा रही है। बता दें कि प्रदेश में अब तक डेंगू के दो मामले आए हैं। इससे पहले हल्द्वानी में एक व्यक्ति में डेंगू की पुष्टि हुई है। वह अब स्वास्थ्य हो चुका है।

यह हैं डेंगू के लक्षण
तेज बुखार।
सिर में तेज दर्द।
आंखों के पीछे दर्द।
मांसपेशियों (बदन) और जोड़ों में दर्द।
स्वाद का पता न चलना।
भूख न लगना।
छाती पर खसरे जैसे दानें।
चक्कर आना।
जी घबराना और उल्टी आना।

इन बातों का रखें ध्यान
बिना चिकित्सकीय सलाह के दवाएं नहीं लेनी चाहिए।
झोलाझाप से इलाज नहीं कराना चाहिए।
सरकारी या अच्छे अस्पताल में इलाज कराएं।
यह भी पढ़ें-क्मीतंकनद छमूेरू अब जौलीग्रांट एयरपोर्ट तक लिजिए इलेक्ट्रिक स्मार्ट बस में सफर का आनंद, मुख्‍यमंत्री धामी ने दिखाई हरी झंडी


इस तरह कर सकते हैं डेंगू से बचाव
कूलर, बाल्टी, घड़े और टंकियों का पानी समय-समय पर बदलते रहें।
घर के आसपास किसी भी जगह पानी को एकत्रित नहीं होने दें।
जमा पानी में केरोसिन या जला हुआ मोबिल आयल डालें।
शरीर पर मच्छर से बचाव वाली क्रीम लगा सकते हैं।
घर में नीम की पत्ती या उबलों का धुआं कर सकते हैं।
पूरे बांह की शर्ट और पैंट पहनें।
बुखार एक दिन से ज्यादा रहे तो डॉक्टर को दिखाएं।