India Times Group
कोरोनाकाल में उत्कृष्ठ कार्यों के लिए डॉ गुलशन कुमार ढींगरा को किया गया “सर्टिफिकेट ऑफ एक्सीलेंस” से सम्मानित
 

कोरोनाकाल में उत्कृष्ठ कार्यों के लिए डॉ गुलशन कुमार ढींगरा को  किया गया “सर्टिफिकेट ऑफ एक्सीलेंस” से सम्मानित

ऋषिकेश। कोरोना की पहली, दूसरी और तीसरी लहर को भला कौन भूल सकता है। लाखों की संख्या में लोगों ने इस कोरोनाकाल में अपनो को खोया। वहीं इस कोरोना महामारी में चिकित्साकर्मियों, पुलिसकर्मियों के अलावा भी समाज के विभिन्न क्षेत्रों से भी बड़ी संख्या में ऐसे लोगों थे जिन्होंने जान पर खेलकर कोरोना में बीमार लोगों की मद्द करने के साथ ही जनजागरूकता अभियान भी चलाया। समाज के ऐसे ही लोगों को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के सामुदायिक और पारिवारिक चिकित्सा विभाग द्वारा सम्मानित किया गया।

इस कड़ी में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के सामुदायिक और पारिवारिक चिकित्सा विभाग द्वारा डॉ गुलशन कुमार ढींगरा प्राचार्य (प्रभारी) पंडित ललित मोहन श्रीदेव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय परीक्षा ऋषिकेश को कोविड- 19 महामारी के दौरान महामारी के प्रति जन समुदाय में जागरूकता और संवेदनशीलता पैदा करने में महत्वपूर्ण योगदान के लिए “सर्टिफिकेट ऑफ एक्सीलेंसष् सम्मान से नवाजा गया। उन्हें डॉ वर्तिका सक्सेना, विभागाध्यक्ष सीएफएम, डॉ रविकांत, जनरल मेडिसिन ने पुरूस्कृत किया।

एम्स ऋषिकेश के आउट रीच सेल के नोडल अधिकारी डॉ संतोष कुमार ने बताया कि आज एक विशेष कार्यक्रम के तहत सम्मान समारोह आयोजित किया जिसमें कोविड 19 महामारी के दौरान एम्स द्वारा बनाई गई कोविड कम्यूनिटी टास्क फोर्स के सदस्यों को महामारी के समय किये गए योगदान के लिए सम्मानित किया गया। डॉ गुलशन कुमार ढींगरा को मिले सम्मान पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो पी पी ध्यानी, कुलसचिव के आर भट्ट, ऋषिकेश परिसर के कला संकायाध्यक्ष प्रो डी सी गोस्वामी, वाणिज्य संकायाध्यक्ष प्रो आर एम पटेल ने हर्ष जताया है।