India Times Group
मुख्यमंत्री धामी की बेरोजगार युवाओं से अपील, आशा को निराशा में न बदले, हमें अपने बेटे-बेटियों के आज और कल की चिंता, दोषी कोई भी हो बख्शा नहीं जाएगा
 

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि बेरोजगार युवाओं को आश्वस्त किया कि भर्ती परीक्षाओं में कोई विलंब नहीं होगा। सरकार उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग में लंबित परीक्षाओं को राज्य लोक सेवा आयोग अथवा अन्य एजेंसियों से कराने जा रही है। सीएम धामी ने कहा कि हमारे भाई-बहन जो परीक्षार्थी हैं, उनकी परीक्षाओं में कोई विलंब न हो। साथ ही उनकी रोजगार की आशा, निराशा में न बदले, इसके लिए लंबित परीक्षाएं कराने का समाधान निकाला जा रहा है। यूकेएसएसएससी की अर्हता के आधार पर ही इन पदों को भरने के लिए लोक सेवा आयोग अथवा अन्य संस्थाओं से भर्ती प्रक्रिया शुरू कराने के लिए जल्द ही कैबिनेट में प्रस्ताव लाया जा रहा है।

सीएम धामी ने कहा कि राज्य सरकार जीरो टॉलरेंस ऑन करप्शन की नीति से कोई समझौता नहीं करने पर दृढ़ संकल्पित है। कोई भी दोषी बख्शा नहीं जाएगा। प्रदेश के ईमानदार और परिश्रमी युवाओं के साथ सरकार अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि हम इससे आगे के लिए भी एक नजीर बनाना चाहते हैं, जिससे ऐसी घटनाओं की पुनरावृति न हो। क्योंकि, हमें अपने बेटे-बेटियों के आज और कल की चिंता है। उनके वर्तमान एवं भविष्य का सवाल है। हमें प्रदेश में ऐसा सिस्टम बनाना होगा कि भविष्य में कोई इस तरह का कृत्य करने की सोच भी न सके। उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों में मौजूदा वक्त में लगभग 12 हजार पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू होनी थी। उन्होंने कहा है कि यूकेएसएसएससी के भर्ती प्रकरणों में पाई गई अनियमितताओं की जांच तेजी से चल रही है। साथ ही स्पीकर ने भी विधानसभा में की गई नियुक्तियों की जांच के बाबत उच्च स्तरीय समिति का गठन किया है।