India Times Group
स्तनपान नवजात शिशुओं के लिए सर्वाेत्तम आहार है :- डॉ आर राजेश कुमार
 

देहरादून। स्तनपान नवजात शिशुओं के लिए सर्वाेत्तम आहार है यह बात डॉ. आर राजेश कुमार, प्रभारी सचिव एवं मिशन निदेशक, राष्ट्रीय स्वाथ्य मिशन, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा बताया गया कि प्रदेश में स्तनपान को बढ़ावा देने के लिए 1 अगस्त से 07 अगस्त 2022 तक विश्व स्तनपान सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है। विश्व स्तनपान सप्ताह पर प्रभारी सचिव द्वारा बताया गया कि यह सर्वविदित है कि शिशु के लिए स्तनपान सर्वाेत्तम आहार तथा शिशु का मौलिक अधिकार है। माँ का दूध शिशु के व्यापक, मानसिक विकास, शिशु को डायरिया, निमोनिया एवं कुपोषण से बचाने और स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। अतः शिशु के जन्म उपरान्त एक घंटे के भीतर स्तनपान कराना आवश्यक है एवं प्रथम छ माह तक केवल माँ का दूध दिया जाये।

प्रभारी सचिव द्वारा अवगत करवाया गया कि स्पनपान से एंटीबॉडी मां से सीधे बच्चे तक पहुंचती है, जो बच्चे की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाता है, बच्चों के जीवित रहने में मदद करता है और आजीविन स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। जिसको लेकर प्रदेश के सभी चिकित्सा इकाइयों में स्तनपान को लेकर जागरुकता अभियान चलाया जाएगा।

प्रभारी सचिव ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रत्येक जनपदों में आशाओं के माध्यम से छ माह तक के शिशुओं की माँ एवं गर्भवती महिलाओं को फ्लिप बुक्स के माध्यम से स्तनपान के बारे में सूचना देंगी एवं कार्यक्रम के अन्तर्गत कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुये माँ के साथ बैठक करेंगी, जिसका उन्हें नियमानुसार प्रोत्साहन राशि प्रदान किया जायेगा। उनके द्वारा बताया गया कि कम वजन व समय से पहले जन्म लेने वाले बच्चों पर विशेष ध्यान होगा एवं इन बच्चों को कंगारु मदर केयर के प्रावधान के माध्यम से देखभाल की जाएगी। इस तरह से हम आने वाली बच्चों को कुशल स्वास्थ्य दे पाएंगे, जो कि स्वास्थ्य विभाग का मुख्य लक्ष्य है।