India Times Group
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फिर बने दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता, सांसद नरेश बंसल ने दी बधाई
 
उत्तराखंड से राज्यसभा सांसद नरेश बंसल ने द मॉर्निंग कंसल्ट के सर्वे में प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी की अप्रूवल रेटिंग 70 से अधिक होने पर उन्हें बधाई और शुभकामनाएं दी।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर से दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता चुने गए हैं। अमेरिकी डेटा इंटेलिजेंस फर्म द मॉर्निंग कंसल्ट के सर्वे में पीएम मोदी की एप्रूवल रेटिंग अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन से भी ज्यादा है. इस सर्वे में पीएम मोदी की एप्रूवल रेटिंग 70% है. दुनिया के 13 राष्ट्रप्रमुखों की लिस्ट में पीएम मोदी पहले नंबर पर हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति 6ठे और बोरिस जॉनसन 10वें नंबर पर हैं।

सांसद नरेश बंसल ने कहा है कि प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी दुनिया के सबसे अधिक लोकप्रिय नेता चुने जाने पर उन्हें बेहद ख़ुशी है। 
सांसद नरेश बंसल ने कहा है कि प्रधानमंत्री के तौर पर अपना दूसरे कार्यकाल में श्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता निरंतर बढ़ रही है। वे वैश्विक नेता के तौर पर प्रसिद्धि प्राप्त कर रहे हैं। सांसद नरेश बंसल ने कहा है कि अमेरिकी डेटा इंटेलिजेंस फर्म द मॉर्निंग कंसल्ट के सर्वे के अनुसार प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने अप्रूवल रेटिंग मे दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका के राष्ट्राध्यक्ष जो बाइडन को भी पीछे छोड़ दिया है। मोदी की अप्रूवल रेटिंग 70 प्रतिशत है और वह दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता चुने गए हैं। सांसद नरेश बंसल ने कहा है कि मोदी की लोकप्रियता के कारण सम्पूर्ण विश्व में भारत की छवि भी उज्जवल हुयी है, उन्होंने कहा है कि मोदी को दुनिया का सर्वश्रेष्ठ नेता चुने जाने पर देश का हर नागरिक गर्व की अनुभूति कर रहा है।सांसद नरेश बंसल ने प्रधानमंत्री को इस उपलब्धि के लिए अपनी शुभकामनाएं दी।

द मॉर्निंग कंसल्ट सर्वे के मुताबिक, मैक्सिको के राष्ट्रपति आंद्रेस मैन्युअल लोपेज ओब्राडोर हैं. उनकी एप्रूवल रेटिंग 66% है। तीसरे नंबर पर इटली के पीएम मारिया द्रागी, चौथे पर जर्मनी की चांसलर एंजेला मार्केल और 5वें पर ऑस्ट्रलियाई पीएम स्कॉट मॉरिसन हैं। 

पिछले एक साल में पीएम मोदी की एप्रवूल रेटिंग हमेशा 70% से ऊपर ही रही है। हालांकि, अप्रैल-मई में जब देश में कोविड की दूसरी लहर आई तो उनकी रेटिंग में भी गिरावट आ गई। अप्रैल के बाद से जुलाई तक पीएम मोदी की एप्रूवल रेटिंग 70% से नीचे रही. हालांकि, अगस्त से फिर ये 70% से ऊपर बनी हुई है।