India Times Group

श्रद्धा हत्याकांड मामले में हुआ एक और खुलासा, आरोपी उत्तराखंड में फेंकना चाहता था शव के टुकड़ें

 

दिल्ली- एनसीआर। श्रद्धा हत्याकांड में आरोपी आफताब अमीन पूनावाला(28) ने सनसनीखेज खुलासा किया हुआ है। उसने श्रद्धा के चेहरे, हाथों की कलाईयां व ऊंगलियां को ब्लोअर टॉर्च से जला दिया था। इसके लिए वह ब्लोअर टॉर्च महरौली मार्केट से खरीदकर लाया था। आरोपी का कहना है कि श्रद्धा की पहचान मिटाने के लिए चेहरे व हाथों को जलाया था। पुलिस को अब तक श्रद्धा के शव के टुकड़े के रूप में कुल 13 हड्डियां मिल चुकी हैं। सिर्फ 100 फुटा रोड श्मशान घाट के पास शव का जो टुकड़ा मिला है उससे पता लग रहा है कि वह महिला का है।

अन्य जगहों से मिली हड्डियों से पता नहीं लग रहा है। यहां कुल्हे का हिस्सा मिला है। पुलिस की जांच के बाद ये बात सामने आरोपी आफताब ने श्रद्धा के सिर को सबसे बाद में फेंका था। आरोपी ने खुलासा किया है कि फ्रिज खोलते समय श्रद्धा के चेहरे को देखता था।दक्षिण जिले के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आरोपी आफताब ने पूछताछ में खुलासा किया है कि दोनों शादी नहीं करना चहाते थे। दोनों जिंदगी को अपने तरीके से जी रहे थे। शराब, गांजा व बीड़ के नशे में दोनों में झगड़ा होता था। वारदात वाले दिन भी दोनों में झगड़ा हुआ था। झगड़े में श्रद्धा उसे बर्तन फेंक कर मार रही थी। इस तरह का इनमें रोज झगड़ा होता था। आरोपी ने 18 मई को हुई झगड़े में श्रद्धा का गला दबा कर हत्या कर दी थी। उसने चेहरे को फ्रीज में रख दिया था। वह फ्रीज खोल श्रद्धा के चेहरे को हर रोज देखता था। 

वह डेटिंग एप के जरिए अन्य युवतियों के संपर्क में था। दिल्ली पुलिस ने डीएनए जांच के लिए श्रद्धा के भाई श्रीजय विकास वालकर व पिता विकास वालकर के खून के सैंपल ले लिए हैं।पुलिस जल्द ही हड्डियों को डीएनजी जांच के लिए भेजेगी। दूसरी दिल्ली पुलिस ने आरोपी आफताब का नार्को टेस्ट कराने के लिए साकेत कोर्ट में आवेदन किया है।आरोपी श्रद्धा के शव को लक्ष्मण झूला, उतराखंड में फेंकना चहाता था। इसके लिए वह महरौली मार्केट से ब्रीफकेस खरीदकर लाया था। ये श्रृद्धा के साथ लक्ष्मण झूला घूमकर आया था। इसलिए ये जगह उसकी देखी हुई थी। मगर बाद में इसने प्लान बदल दिया था।

दिल्ली पुलिस ने छतरपुर व महरौली के जंगलों में मंगलवार को भी शव के टुकड़े तलाश करने के लिए तलाशी अभियान चलाया। पुलिस आरोपी आफताब को साथ लेकर गई थी। मगर मंगलवार को पुलिस को श्रद्धा के शव का एक भी टुकड़ा नहीं मिला। महरौली पुलिस ने आरोपी आफताब को पांच दिन के पुलिस रिमांड पर ले रखा है।