India Times Group
रक्षाबंधन पर दिया डाक विभाग ने तोहफा, पूरे भारत में कहीं भी भेज सकते है 10 रुपये के वाटर प्रूफ लिफाफे से राखी
 

दिल्ली।  कच्चे धागे के अटूट बंधन, रक्षाबंधन के पर्व पर दूर शहरों में रह रहे भाइयों के लिए बहनों को राखी भिजवानी होती है। इसके लिए डाक विभाग ने विशेष इंतजाम किए हैं। सदर बाजार स्थित प्रधान डाकघर में अतिरिक्त काउंटर शुरू किया गया है। राखी के लिए वाटर प्रूफ लिफाफा 10 रुपये का है जो पूरे भारतवर्ष में कहीं भी भेजा जा सकता है। 

डाक विभाग के अधिकारी कहते हैं कि राखियों को समय से पहुंचाने के लिए हवाई जहाज से भी डाक भिजवाई जा सकती है। 11 अगस्त को रक्षाबंधन का पर्व है। कुछ बहनें हैं, जिनके भाई दूसरे प्रांतों में नौकरी कर रहे हैं। ऐसे लोग सेना में हैं या आजीविका के लिए घर से दूर रहते हैं। उनके लिए समय से राखी पहुंचे, इसके लिए जरूरी है कि राखी समय से प्रेषित भी की जाए। 

प्रधान डाकघर के डाक अधीक्षक सत्य प्रकाश यादव कहते हैं कि राखी समय से पहुंचे और सही हालत में पहुंचे, इसके लिए वाटर प्रूफ लिफाफों की व्यवस्था है। राखी के लिफाफे के लिए अलग काउंटर की व्यवस्था की गई है। पहली डाक हमारी दोपहर 1 बजे निकलती है। 

उसी से सारे राखी के लिफाफे डिस्पैच हो रहे हैं। देश के दूरदराज वाले स्थानों पर डाक को समय से भेजने के लिए एयर लिफ्ट किया जा रहा है। इसके अलावा डाक वितरण में भी निर्देश दिए हैं कि जो राखी के लिफाफे दूसरे शहरों से गुरुग्राम आ रहे हैं, उनको भी प्राथमिकता के साथ वितरण किया जाए।

यूं तो रक्षा सूत्र के धागे की कोई कीमत नहीं होती है। सदर बाजार में राखियों के स्टॉल सजे हैं। यहां पर बहनें अपने भाइयों की पसंद की राखी खरीद रही हैं। 20 रुपये से राखी की शुरुआत होती है। इसके बाद चांदी की राखी की कीमत उसके आकार और वजन से तय होती है। बाजार में 300 रुपये से लेकर तीन हजार तक की राखियां उपलब्ध हैं।