India Times Group
पीएम मोदी दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे तमिलनाडु, अन्ना विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में हुए शामिल
 

तमिलनाडु।   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) अपने दो दिवसीय यात्रा के दूसरे दिन आज दक्षिणी राज्य तमिलनाडु (Tamil nadu) में अन्ना विश्वविद्यालय (Anna University) के दीक्षांत समारोह (Convocation) में शामिल होने पहुंचे। यहां अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कोरोना महामारी के दौरान आई समस्याओं से लेकर विज्ञान और स्वास्थ्य के क्षेत्र में भारत के बढ़ते कदमों पर बात की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस वैश्विक महामारी को अप्रत्याशित’ और सदी में एक बार आने वाला संकट करार देते हुए कहा कि देश ने अपने वैज्ञानिकों और आमजन की मदद से आत्मविश्वास के साथ इसका सामना किया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 एक ऐसा अप्रत्याशित और सदी में एक बार आने वाला संकट था, जिसके निपटने की कोई तय नियमावली नहीं थी। उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी ने हर देश की ‘‘परीक्षा ली’’।

मोदी ने कहा कि हमारी सरकार का स्वभाव सुधार करना है और यह सरकार प्रतिबंधात्मक नहीं, बल्कि उत्तरदायी है। उन्होंने ड्रोन एवं भू-स्थानिक और बुनियादी ढांचा सहित विभिन्न क्षेत्रों में किए गए सुधारों का जिक्र किया। पीएम ने कहा, ‘‘भारत ने अपने वैज्ञानिकों, स्वास्थ्य सेवा कर्मियों, पेशेवरों और आमजन की मदद से अज्ञात (समस्या) का आत्मविश्वास से मुकाबला किया। इसके परिणामस्वरूप, भारत में हर क्षेत्र को नया जीवन मिल रहा है, चाहे वह उद्योग हो, नवाचार हो, निवेश हो या अंतरराष्ट्रीय व्यापार।’’

उन्होंने कहा कि देश हर क्षेत्र में अग्रणी है और अवसर को बाधाओं में बदल रहा है। उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों में देश की सहायता के लिए पूर्वप्रभावी कर को हटाने और विभिन्न क्षेत्रों में किए गए सुधारों की सराहना की।

पीएम मोदी आज ही शाम अपने गृह राज्य गुजरात (Gujarat) पहुंचेगे। पीएम मोदी शाम करीब चार बजे गुजरात के गांधीनगर के गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंस टेक-सिटी (GIFT City) में देश के पहले अंतरराष्ट्रीय बुलियन एक्सचेंज की शुरुआत करेंगे। वह इस दौरान अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण के मुख्यालय भवन की आधारशिला भी रखेंगे।

प्रधानमंत्री आज ही गांधीनगर में गिफ्ट सिटी का दौरा करेंगे। गिफ्ट सिटी को न केवल भारत के लिए बल्कि दुनिया के लिए वित्तीय और प्रौद्योगिकी सेवाओं के लिए एक एकीकृत केंद्र के रूप में बनाया गया है। प्रधानमंत्री भारत में अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्रों (IFSCs) में वित्तीय उत्पादों, वित्तीय सेवाओं और वित्तीय संस्थानों के विकास और विनियमन के लिए एकीकृत नियामक, अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण (IFSCA) के मुख्यालय भवन की आधारशिला रखेंगे। इस इमारत को एक प्रतिष्ठित संरचना के रूप में अवधारणाबद्ध किया गया है, जो एक अग्रणी अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय केंद्र के रूप में गिफ्ट-आईएफएससी की बढ़ती प्रमुखता और कद को दर्शाता है।

प्रधानमंत्री गिफ्ट-आईएफएससी में भारत के पहले अंतर्राष्ट्रीय बुलियन एक्सचेंज, इंडिया इंटरनेशनल बुलियन एक्सचेंज (IIBX) का शुभारंभ करेंगे। आईबीएक्स भारत में सोने के वित्तीयकरण को बढ़ावा देने के अलावा, जिम्मेदार सोर्सिंग और गुणवत्ता के आश्वासन के साथ कुशल कारीगरों के खोज की सुविधा प्रदान करेगा। यह भारत को वैश्विक सर्राफा बाजार में अपना सही स्थान हासिल करने और अखंडता और गुणवत्ता के साथ वैश्विक मूल्य श्रृंखला की सेवा करने के लिए सशक्त बनाएगा। आईआईबीएक्स भारत को एक प्रमुख उपभोक्ता के रूप में वैश्विक सर्राफा कीमतों को प्रभावित करने में सक्षम बनाने के लिए भारत सरकार की प्रतिबद्धता को फिर से लागू करेगा।