India Times Group
नव निर्वाचित राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 25 जुलाई को लेंगी राष्ट्रपति पद की शपथ
 

दिल्ली। कार्मिक मंत्रालय ने शुक्रवार को नई निर्वाचित राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के 25 जुलाई को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह के कारण कुछ सरकारी कार्यालयों को आंशिक रूप से बंद करने का निर्देश दिया गया है। इसमें यह भी कहा गया है कि समारोह के समय नए संसद भवन के निर्णाण कार्य को भी रोके जाने की आवश्यकता है।

संसद भवन के सेंट्रल हॉल में शपथ ग्रहण समारोह
केंद्र सरकार ने सभी विभागों/मंत्रालयों को जारी आदेश में कहा है कि भारत की निर्वाचित राष्ट्रपति का शपथ ग्रहण समारोह 25 जुलाई को यहां संसद भवन के सेंट्रल हॉल में होगा। आदेश के मुताबिक 25 जुलाई को सुबह 6 बजे तक कुल 30 कार्यालयों को खाली करने की आवश्यकता है। यह अभ्यास, समारोह समाप्त होने तक जारी रहेगा। 

आदेश में कहा गया है कि इसके अलावा नए संसद भवन के निर्माण कार्य को भी समारोह के समय रोक दिया जाना चाहिए।

ये इमारतें  25 जुलाई को रहेंगी बंद
कार्मिक मंत्रालय के आदेश के मुताबिक जिन इमारतों को जल्दी खाली किया जाएगा उनमें साउथ ब्लॉक, नॉर्थ ब्लॉक, रेल भवन, कृषि भवन, शास्त्री भवन, संचार भवन, प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया बिल्डिंग, सेना भवन, वायु भवन, उद्योग भवन और निर्माण भवन शामिल हैं। ये इमारतें 25 जुलाई को सुबह 6 बजे से दोपहर 2 बजे तक बंद रहेंगी।

राष्ट्रपति चुनाव में मिले 5 लाख 777 वोट
बता दें कि राष्ट्रपति चुनाव 2022 में एनडीए की उम्मीदवार रहीं द्रौपदी मुर्मू को 5 लाख 777 वोट मिले जबकि विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को 2 लाख 61 हजार 62 वोट मिले। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई की मध्यरात्रि को खत्म हो रहा है। 25 जुलाई को नए राष्ट्रपति का शपथ ग्रहण होगा। 

द्रौपदी मुर्मू का राजनीतिक सफर
द्रौपदी मुर्मू ने साल 1997 में पहली बार पार्षद का चुनाव जीता। 2000 में ओडिशा सरकार में मंत्री बनीं। इसके बाद भाजपा संगठन में अलग-अलग पदों को संभाला। साल 2015 में उन्हें झारखंड का राज्यपाल बनाया गया था और सफलतापूर्व उन्होंने अपना कार्यकाल पूरा किया था।