India Times Group

दिल्ली की श्रद्धा की तरह झारखंड के सिमडेगा जिले में भी युवक ने 25 बार अपनी मंगेतर के सीने में चाकू घोंप उतारा मौत के घाट

 

झारखंड। दिल्ली में लिव-इन में रह रही श्रद्धा के नृशंस कत्ल की खबरों की स्याही अभी सूखी भी नहीं है कि झारखंड के सिमडेगा जिले से मिलती-जुलती वारदात सामने आई है। सोमवार को एक युवक ने अपनी मंगेतर के सीने में 25 बार चाकू घोंपकर उसे मौत के घाट उतार दिया। पांच माह पहले ही दोनों ने शादी का फैसला किया था, लेकिन सारे सपने पल भर में बिखर गए। 

मृतका जेनेविभा सदर अस्पताल सिमडेगा में जीएनएम के पद पर कार्यरत थीं। वह पिछले डेढ़ महीने से सरुडा में रहने वाली रिश्तेदार तीजन एक्का के घर में रह रही थी। पुलिस के अनुसार पांच माह पहले ही उसकी सगाई अरविंद कुजूर के साथ हुई थी। वह जेनेविभा से मिलने अक्सर सरुडा आता था। सोमवार को भी वह शाम करीब 4 बजे जेनेविभा से मिलने एक्का के घर पहुंचा था। 

अरविंद ने एक्का के घर पहुंचते ही जेनेविभा पर चाकू से हमला बोल दिया। उसके सीने में अरविंद ने एक के बाद 25 बार वार किए और वहां से फरार हो गया। जेनेविभा के चिल्लाने की आवाज सुनकर तीजन एक्का पहुंचीं और उसे बीच बचाव का प्रयास किया, इस दौरान तीजन के भी हाथ में चोटें आ गईं। गंभीर हालत में जेनेविभा को बसिया के अस्पताल ले जाया गया, लेकिन वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बसिया पुलिस ने अस्पताल पहुंचकर शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल गुमला भेजा। 

जेनेविभा के पारिवारिक सूत्रों के अनुसार पहले भी आरोपी अरविंद मंगेतर के साथ विवाद और पिटाई करता रहता था। जेनेविभाग के माता पिता की उसके बचपन में ही मृत्यु हो गई थी। उसका पालन पोषण बड़े पिता ने किया था। उसकी नृशंस हत्या से परिवार सदमे में है। 

यह मामला दिल्ली में हुई श्रद्धा की जघन्य हत्या से इसलिए मिलता-जुलता है कि चंद माहों में दो युवाओं के बीच करार, तकरार  और हत्या की नौबत आ गई। श्रद्धा की जघन्य हत्या ने सभी को हैरान कर दिया है। बहरहाल, जेनेविभा की हत्या क्यों की गई इसकी तहकीकात में पुलिस जुटी है। जांच के बाद ही हत्या की वजह पता चल सकेगी।