India Times Group

हिमाचल विधानसभा चुनाव: बर्फ से ढ़की सड़कों के बीच कई घंटों पैदल चलकर पोलिंग बूथ तक पहुंचे मतदान कर्मी

 

हिमाचल। प्रदेश में शनिवार को मतदान होने हैं। मतदान से 24 घंटे पहले कर्मियों को गुरुवार को बर्फ से ढंकी ऊंची पहाड़ियों से होकर गुजरना पड़ा। राज्य में हाल ही में रोहतांग और लाहौल-स्पीति सहित कई इलाकों में बर्फबारी हुई है। बर्फबारी की वजह से टीम को सड़क मार्ग की बजाय बर्फ के टीलों से होकर अपने गंतव्य स्थल तक जाना पड़ा, जोकि लंबा रास्ता है।

लाहौल-स्पीति के खुर्चेड में स्थित एक मतदान केंद्र तक पहुंचने के लिए टीम को 3.5 घंटे तक पैदल चलना पड़ा जबकि सड़क मार्ग से यह रास्ता केवल तीन किलोमीटर का है। लाहौल-स्पीति के उपायुक्त सुमित खिमता ने कहा, 'शाम साढ़े पांच बजे तक टीमें जिले के संबंधित मतदान केंद्रों पर पहुंच गईं। ऐसे कुछ स्थान हैं जहां हाल ही में हुई बर्फबारी के कारण बहुत सारी बर्फ जमा हो गई है, इसलिए टीमों को लंबे समय तक चलना पड़ा।'

लाहौल-स्पीति में कुल 92 मतदान केंद्र हैं। खिमता ने कहा कि टीमों को सुबह 11 बजे भेजा गया ताकि वे समय पर संबंधित बूथों पर पहुंच सकें। जिले के मियार नाला में एक बूथ तक पहुंचने के लिए एक टीम दो घंटे तक चली। उनके अनुसार एक अन्य दल को भी उदयपुर कस्बे तक पहुंचने में कठिनाई का सामना करना पड़ा। उन्होंने कहा कि इन जगहों को छोड़कर किसी को भी किसी तरह की दिक्कत नहीं हुई। हिमाचल प्रदेश में दो राष्ट्रीय दलों, बीजेपी और और कांग्रेस के बीच 1982 से सत्ता परिवर्तन होता रहता है। राज्य में  शनिवार को 68 विधानसभा सीटों के लिए मतदान होगा। वहीं चुनाव परिणाम 8 दिसंबर को जारी किए जाएंगे।