India Times Group

शिमला की सड़कों पर एक ओर जमा भीषण कोहरा, तो दूसरी ओर सड़कों पर फिसलन होने से बस सेवा हुई बंद

 

हिमाचल। प्रदेश की राजधानी शिमला में मौसम साफ रहने के चलते शनिवार सुबह सड़कों पर भीषण कोहरा जम गया। जिससे फिसलन की स्थिति बढ़ गई है। फागू कुफरी सड़क पर भारी फिसलन है। नारकंडा और खड़ा पत्थर पर भी फिसलन के कारण बस सेवा बंद है। चौपाल खिड़की सड़क अभी बहाल नहीं हो पाई है। रामपुर रिकांगपिओ के लिए वैकल्पिक मार्ग से बसों का आवागमन हो रहा है। दोपहर तक शिमला रामपुर वाया नारकंडा शिमला रोहड़ू वाया खड़ापत्थर बहाल होने की उम्मीद है।

इससे पहले, हिमाचल में बृहस्पतिवार रात और शुक्रवार सुबह प्रदेश के आठ जिलों की चोटियां बर्फ से लकदक हो गई। राजधानी शिमला में बारिश के साथ फाहे ही गिरे। हालांकि, जाखू की चोटी बर्फ से सफेद हो गई। प्रदेश में बर्फबारी से तीन एनएच, 380 सड़कें बंद हो गई हैं। 109 बिजली ट्रांसफार्मर और 19 पेयजल योजनाएं ठप हैं। 

लाहौल जिला और आधा दर्जन क्षेत्र अलग-थलग पड़ गए हैं। अटल टनल रोहतांग बंद होने से लाहौल जिले का कुल्लू मुख्यालय से संपर्क कट गया है। कुल्लू की जलोड़ी जोत, मलाणा, चंबा का पांगी, किन्नौर का पूह, काजा, सिरमौर का हरिपुरधार क्षेत्र भी कट गए हैं। इसके अलावा तीन मुख्य मार्ग दारचा-शिंकुला, तांदी-कुड्डू, कोकसर-लोसर भी बंद हैं। सोलन के चायल में सीजन की पहली बर्फबारी हुई है।

शिमला जिले के कुफरी, नारकंडा, मनाली शहर के अलावा कुल्लू, लाहौल, मंडी, चंबा, कांगड़ा, सोलन और सिरमौर की ऊंची चोटियों पर बर्फबारी हुई है। ताजा हिमपात से छोटी गाड़ियों सहित बसों के पहिये थम गए हैं। धर्मशाला के नड्डी और धर्मकोट में सीजन का पहला हिमपात हुआ है। मैदानी क्षेत्रों में बारिश से नादौन के अमतर मैदान में हिमाचल और नगालैंड के बीच रणजी ट्रॉफी का मैच धुल गया। कांगड़ा के गगल एयरपोर्ट के लिए हवाई उड़ानें नहीं हो पाईं।

हिमाचल में 26 जनवरी गणतंत्र दिवस तक बारिश और बर्फबारी के आसार हैं। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के अनुसार 23-24 को प्रदेश में भारी बारिश-बर्फबारी और ओलावृष्टि का येलो अलर्ट जारी हुआ है।