India Times Group
दिल्ली में बेहतर होने जा रही स्वास्थ्य सेवाएं, सरकार करवा रही 11 नए अस्पतालों का निर्माण
 

दिल्ली। सरकारी अस्पतालों में अगले साल तक मरीजों के लिए उपलब्ध बिस्तरों की संख्या में 10 हजार से ज्यादा का इजाफा होगा। दिल्ली सरकार 11 नए अस्पतालों का निर्माण करवा रही है। इनमें से चार अस्पतालों में 3237 बेड और सात अस्पतालों में 6838 आईसीयू बेड की व्यवस्था होगी।

बीते दिन दिल्ली के उपमुख्यमंत्री व लोक निर्माण विभाग मंत्री मनीष सिसोदिया ने पीडब्ल्यूडी व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ निर्माण कार्यों के प्रगति की समीक्षा बैठक की। बैठक में उन्होंने सिरसपुर, ज्वालापुरी, मादीपुर, हस्तसाल (विकासपुरी) में बन रहे अस्पतालों के साथ-साथ 6838 आईसीयू बेड्स की क्षमता के साथ बनाए जा रहे सात नए सेमी-पर्मानेंट अस्पतालों के निर्माण कार्यों को जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि गुणवत्ता के साथ इनका काम जल्द पूरा हो। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार का उद्देश्य अपने सभी नागरिकों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देना है। 

दिसंबर तक पूरा होगा काम 

अधिकारियों ने जानकारी दी कि ज्यादातर अस्पतालों का निर्माण कार्य इस साल अंत तक पूरा हो जाएगा। वहीं, कुछ अस्पताल 2023 के मिड तक बनकर तैयार हो जाएंगे। वहीं सिसोदिया ने कहा कि इन 11 अस्पतालों में 3237 बेड्स की क्षमता वाले 4 अस्पताल व 6838 आईसीयू बेड्स की क्षमता वाले सात सेमी-परमानेंट आईसीयू अस्पताल शामिल है।

लाखों मरीजों को होगा फायदा 

दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में रोजाना हजारों लोग उपचार करवाने आते हैं। बेड की संख्या बढ़ने से लाखों मरीजों को फायदा होगा। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली के हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को विश्वस्तरीय बनाया जा रहा है।

यहां होगी सुविधा 

सिरसपुर में 1164 बेड, ज्वालापुरी, मादीपुर व हस्तसाल (विकासपुरी) में प्रत्येक में 691 बेड्स होंगे। ज्वालापुरी व मादीपुर में मार्च 2023 तक, हस्तसाल में 2023 के अंतिम माह तक काम खत्म हो सकता है। शालीमार बाग में 1430 बेड, किराड़ी में 458 बेड, सुल्तानपुरी में 527 बेड, जीटीबी काम्प्लेक्स में 1912 बेड, गीता कॉलोनी में चाचा नेहरू बाल चिकित्सालय में 610 बेड, सरिता विहार में 336 बेड, रघुवीर नगर में 1565 बेड की क्षमता वाले अस्पताल का निर्माण किया जा रहा है। यह जल्द बनकर तैयार हो जाएंगे।

जल्द समर्पित होंगे 12 मोहल्ला क्लीनिक 

दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में तैयार हुए 12 नए मोहल्ला क्लीनिक जल्द जनता को समर्पित होंगे। इसके अलावा 52 मोहल्ला क्लीनिक का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि जल्द से जल्द ही इन क्लीनिकों की शुरुआत की जाए, ताकि आम जनता यहां स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ उठा सकें। मोहल्ला क्लीनिकों में रोजाना 70 हजार से ज्यादा लोग इलाज करवा रहे हैं। दिल्ली में 500 से ज्यादा मोहल्ला क्लीनिक बनाए गए है। यहां मरीजों को निशुल्क दवाईयां व अन्य सुविधा मिलती है।