India Times Group

गुजरात विधानसभा चुनाव के बीच पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक का मामला आया सामने, जानिए क्या है पूरा मामला

 

गुजरात। गुजरात  विधानसभा चुनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक का मामला सामने आया है। गुजरात के अहमदाबाद जिले के बावला में ड्रोन उड़ाने के आरोप में पुलिस ने बीते गुरुवार को तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। यह वही स्थान है, जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली होनी थी। 

अधिकारियों के मुताबिक, सुरक्षा के मद्देनजर प्रधानमंत्री के रैली स्थल के आस-पास के इलाके को 'नो फ्लाई जोन' घोषित किया गया था। स्थानीय पुलिस अधिकारी निरीक्षक भरत पटेल ने बताया कि प्रधानमंत्री की रैली से पहले तीन स्थानीय लोगों को ड्रोन उड़ाते हुए देखा गया। इसके बाद उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। 

निजी फोटोग्राफर ने उड़ाया था ड्रोन 
हालांकि, कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी कहा गया है कि बावला में पीएम के रैली स्थल के पास वीडियो रिकॉर्डिंग के लिए निजी फोटोग्राफर ने ड्रोन उड़ाया था। जैसे ही सुरक्षा अधिकारियों की नजर ड्रोन पर पड़ी, उन्होंने उसे नीचे उतरवाया। इसके बाद पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनकी पहचान कश कालू भाई, निकुल रमेश भाई परमार व राजेश प्रजापति के रूप में हुई है। तीनों से पूछताछ की जा रही है। अधिकारियों का कहना है कि ड्रोन से कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला है।  बता दें, गुजरात विधानसभा चुनाव के तहत प्रधानमंत्री मोदी गुरुवार को गुजरात में थे। 182 सदस्यों वाली गुजरात विधानसभा एक दिसंबर व पांच दिसंबर को चुनाव होंगे। मतगणना आठ दिसंबर को होनी है। 

इससे पहले, पांच जनवरी 2022 को भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पंजाब के फिरोजपुर में दौरा था। भारी बारिश के कारण पीएम को सड़क मार्ग से जाना पड़ा लेकिन इस दौरान हुसैनीवाला से 30 किलोमीटर दूर रास्ते में प्रदर्शनकारी मिल गए जिस कारण उनका काफिला तकरीबन 20 मिनट बेहद असुरक्षित क्षेत्र में रुका रहा। जिस इलाके में पीएम मोदी का काफिला रुका था, वह आतंकियों के अलावा हेरोइन तस्करों का गढ़ माना जाता है। पिछले साल सितंबर माह में इसी क्षेत्र में आतंकी वारदात को अंजाम दिया गया था।