तेंदुए के जबड़े से बेटी को खींच लाई मां, पेड़ से कूदकर और पत्थर बरसाकर भगाया

हल्द्वानी में मां और छोटी बहन के साथ घास काटने गई किशोरी पर झाड़ियों में छिपे तेंदुए ने अचानक हमला बोल लिया। तेंदुआ किशोरी को घसीटकर ले जाने लगा तो पेड़ पर चढ़ी मां ने कूद लगा दी। मां-बेटी ने पत्थर मारकर किशोरी को तेंदुए के चंगुल से छुड़ाया। इसके बाद घायल किशोर को पीठ में लादकर सड़क तक लाए। वन विभाग की टीम ने अपने वाहन से किशोरी को बेस अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां उसका इलाज चल रहा है।

ग्रामसभा गुजरौड़ा के गांव नवाड़ सैलानी निवासी सरस्वती अपनी बड़ी बेटी पिंकी (15) और छोटी बेटी सुनीता को लेकर अन्य गांव वालों के साथ सोमवार को घास लेने जंगल गई थी। सभी ग्रामीण घास लेने के लिए अलग-अलग चले गए। जंगल में पत्ते काटने के लिए सरस्वती पेड़ पर चढ़ गई। पिंकी और उसकी छोटी बहन नीचे पत्ते समेट रहीं थीं।। इसी दौरान झाड़ियों में छिपे तेंदुए ने पिंकी पर पीछे से हमला बोल दिया।

सरस्वती ने बताया कि जब वह अपनी बेटी को पीठ पर लादकर लाने लगी तो तेंदुए ने दोबारा हमला किया। इस पर उन्होंने एक बार फिर तेंदुए पर पत्थरों से हमला कर उसे वहां से भगा दिया। सरस्वती ने बताया कि उनके पति लुधियाना में एक प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं। उनकी बेंटी पिंकी राजकीय इंटर कॉलेज लामाचौड़ में कक्षा 10 की छात्रा है।

गांव वाले करेंगे भूख हड़ताल
ग्राम सभा गुजरौड़ा की प्रधान रितु जोशी ने कहा कि यदि वन विभाग तेंदुए को पकड़ने के लिए पिंजरे की संख्या नहीं बढ़ाता है तो गांव वाले भूख हड़ताल करेंगे। दो माह में अब तक तेंदुए ने यह पांचवां हमला किया है। इससे पूर्व भी तेंदुआ गांव की भगवती देवी, तुलसी देवी, अमर सिंह समेत एक अन्य पर हमला कर चुका है।

बेल मसानी में भी तेंदुए की दहशत
ग्राम बेल मसानी में अब भी तेंदुए की दहशत बरकरार है। गांव में तेंदुआ अब तक दो महिलाओं पर हमला कर चुका है। ग्राम प्रधान गीता गैड़ा का कहना है कि वन विभाग ने तीन पिंजरे तो लगाए हैं, लेकिन तेंदुए को पकड़ने के लिए उन्होंने खुद एक कुत्ता और मुर्गा को खरीदकर पिंजरे में डाला है। जबकि पिंजरे में जानवर को डालने का काम वन विभाग का है।

किशोरी के इलाज का खर्चा विभाग वहन कर रहा है। तेंदुए को पकड़ने के लिए पूर्व में एक पिंजरा लगाया गया था। अब दो पिंजरे अतिरिक्त लगाए जाएंगे। तेंदुए को ट्रैप करने के लिए कैमरे भी लगाए जाएंगे। वन विभाग की टीम लगातार गांव में रात्रि गश्त कर रही है। किशोरी को मुआवजा देने की कार्रवाई की जा रही है।
-केआर आर्या, वन क्षेत्राधिकारी, फतेहपुर रेंज

 

Source Link

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *