मोदी सरकार-2 चार पूर्व मुख्यमंत्री कैबिनेट में शामिल

30 मई 2019 की शाम नरेंद्र मोदी सरकार का शपथ ग्रहण हुआ जिसमें नरेंद्र मोदी ने दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ग्रहण की और उनके साथ 24 कैबिनेट,9 स्वतंत्र प्रभार साथ ही 24 राज्य मंत्रियों यानी कुल 57 मंत्रियों ने थपथ ली। इनमें 4 मंत्री ऐसे हैं जो मुख्यमंत्री रह चुके हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी गुजरात के सीएम रह चुके हैं।
कौन हैं ये मंत्री:-
पीएम मोदी के बाद राजनाथ सिंह ने शपथ ली वे मोदी सरकार के दूसरे कद्दावर मंत्री हैं। पूर्व सरकार में गृहमंत्री रह चुके राजनाथ सिंह को इसका लंबा अनुभव है। वे बीजेपी के प्रमुख चेहरों में से एक हैं। बता दें कि राजनाथ सिंह 28 अक्टूबर 2000 से 8 मार्च 2002 तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे हैं।

राजनाथ सिंह के बारे में कहा जाता है कि साल था 1976 इमरजेंसी दौर में यूपी की एक जेल में दो राजनीतिक कैदी थे। एक ध्यान से ऊपर संबंधित इमेजदेख रहा था, दूसरा हाथ देख कर कुछ सोच रहा था। हाथ देखने वाला उम्रदराज था और दिखाने वाला नौजवान। उम्रदराज ने कहा- तुम एक दिन बहुत बड़े नेता बनोगे, जवान बोला- कितना बड़ा गुप्ता जी? उम्रदराज ने कहा- यूपी के सीएम जितना बड़ा, नौजवान हंस पडा क्योंकि उसकी पार्टी ही बहुत छोटी थी तो सीएम कहां से बनते, विधायक बन जाएं वही बहुत था, लेकिन बुजुर्ग की बात सच हुई और 24 साल बाद वो जवान उन्हीं को हटाकर यूपी का मुख्यमंत्री बना, वो जवान राजनाथ सिंह और बुजुर्ग जनसंघी दौर के नेता रामप्रकाश गुप्ता थे। उनके करीबी उन्हें आज भी अध्यक्षजी से संबोधित करते हैं, यूपी में राजनीतिक गलियारों में अध्यक्षजी का मतलब होता है राजनाथ सिंह वे उत्तर प्रदेश और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी रहे हैं।

Loading...

संबंधित इमेजरमेश पोखरियाल निशंक
1991 में पहली बार कर्णप्रयाग से यू.पी. विधानसभा सदस्य बने, साल 1991 से 2012 तक यूपी-उत्तराखंड में 5 बार विधायक बने। यूपी की कल्याण सिंह और रामप्रकाश गुप्त सरकार में मंत्री भी रहे और 2000 में उत्तराखंड राज्य बनने पर वित्त, राजस्व, जल जैसे 12 विभागों के मंत्री बने। 2007 में खंडूरी सरकार में स्वास्थ्य मंत्री बने 2009 में बी.सी. खंडूरी ने मुख्यमंत्री पद छोड़ा और निशंक उत्तराखंड के सीएम बने। निशंक 2011 तक उत्तराखंड के पांचवें मुख्यमंत्री रहे।
निशंक पिछली बार भी सांसद बने थे लेकिन छोटा राज्य होने से मोदी मंत्रिमंडल में एक राज्यमंत्री का पद ही मिला और युवा अजय टम्टा को राज्य मंत्री बनाया गया। लेकिन इस बार उत्तराखंड से लंबे राजनीतिक अनुभव वाले नेता निशंक ही रहे और केंद्रिय कैबिनेट मंत्री बनें। sadanand gauda के लिए इमेज परिणाम

सदानंद गौड़ा
4 अगस्त 2011 से 12 जुलाई 2012 में कर्नाटक राज्य के सीएम रहे। जब अवैध खनन केस में बीएस येदियुरप्पा ने कुर्सी छोड़ी तब बीजेपी कर्नाटक की सहमति से गौड़ा सीएम बने। सीएम रहने के अलावा गौड़ा 2006 और 2007 में कर्नाटक बीजेपी के अध्यक्ष रहे। उसके बाद 2009 में उडुपी-चिकमंगलूर और 2014 में बेंगलुरु नार्थ से सांसद बने।अर्जुन मुंडा के लिए इमेज परिणाम

अर्जुन मुंडा तीन बार झारखंड के मुख्यमंत्री रहे हैं, पहली बार 2003 से 2005 तक, दूसरी बार 2005 से 2006 और तीसरी बार 11 सिंतबर 2010 से 8 जनवरी 2013 तक। उन्होंने देश में सबसे कम उम्र में मुख्यमंत्री बनने का रिकार्ड बनाया, वर्तमान में वो भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव के साथ मोदी-2 सरकार में कैबिनेट मंत्री बने हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *