India Times Group
अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड के इस्तेमाल से त्वचा को मिल सकते हैं ये पांच फायदे
 

अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड (एएचए) प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले रासायनिक यौगिकों का एक समूह है, जो त्वचा को पोषित करने के साथ ही स्वस्थ रखने में अहम भूमिका अदा कर सकते हैं। यही कारण है कि अधिकतर स्किन केयर प्रोडक्ट्स को बनाते समय अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड का इस्तेमाल किया जाता है। आइए जानते हैं कि एएचए युक्त स्किन केयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने से क्या-क्या फायदे मिल सकते हैं।

एक शोध के अनुसार, एएचए त्वचा पर जमी गंदगी और कीटाणु को हटाने में मदद कर सकता है। यही नहीं, त्वचा पर डेड स्किन सेल्स से छुटकारा दिलाने में भी यह कारगर है। यह एक प्रभावी एस्ट्रिंजेंट भी है, जो त्वचा को जवां और स्मूद बनाकर रोमछिद्रों को छोटा करने में मदद कर सकता है। इसलिए एएचए युक्त स्किन केयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करना लाभदायक है।

शोध के अनुसार, एएचए एंटी-एजिंग गुणों से समृद्ध होता है, जो त्वचा के कोलेजन उत्पादन को बढ़ाकर महीन रेखाओं और झुर्रियों को कम करने में मदद कर सकता है। बता दें कि कोलेजन प्राकृतिक रूप से त्वचा में मौजूद होता है, जो त्वचा को टाइट और मुलायम रखता है, लेकिन अगर किसी कारणवश इसका उत्पादन कम हो जाए तो त्वचा पर समय से पहले बढ़ती उम्र के प्रभाव उभारने लगते हैं।

अगर आप हाइपरपिग्मेंटेशन और किसी भी तरह के दाग-धब्बों आदि से छुटकारा चाहते हैं तो एएचए युक्त स्किन केयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करना शुरू कर दें। दरअसल, यह आपकी त्वचा को जवां बनाने के साथ-साथ रंगत को सुधारने में मदद कर सकता है। इसके अतिरिक्त, यह मेलास्मा (त्वचा की बीमारी) का भी इलाज कर सकता है। कई शोध के अनुसार, एएचए चार हफ्तों में मेलास्मा को 50 प्रतिशत तक कम कर सकता है।

शोध के मुताबिक, एएचए मुंहासों से राहत दिलाने में भी काफी मदद कर सकता है। दरअसल, एएचए में एंटी-बैक्टीरियल प्रोपर्टीज मौजूद होती हैं, जो त्वचा से अतिरिक्त तैलीय प्रभाव को कम करके मुंहासों को प्रभावी ढंग से दूर करने में काफी मदद कर सकती हैं। इसके अतिरिक्त, यह ब्लैकहेड्स और व्हाइटहेड्स से छुटकारा दिलाने में काफी सहयोग प्रदान कर सकता है।

अगर सूरज के अधिक संपर्क में आने के कारण आपकी त्वचा जल गई है तो आप इसे ठीक करने के लिए भी एएचए युक्त स्किन केयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। दरअसल, इसमें एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-ऑक्सीडेंट और हीलिंग गुण शामिल होते हैं, जो सूरज के संपर्क में आने की वजह से जली त्वचा को जल्द ठीक करने में मदद कर सकते हैं। इसी के साथ यह त्वचा को हाइड्रेट रखने में भी सहायक साबित हो सकता है।